Home /News /nation /

क्या हर परिवार के एक सदस्य को नौकरी दे रही केंद्र सरकार? जानें इस वायरल खबर का सच

क्या हर परिवार के एक सदस्य को नौकरी दे रही केंद्र सरकार? जानें इस वायरल खबर का सच

सांकेतिक फोटो...

सांकेतिक फोटो...

इस बीच सोशल मीडिया पर 'एक परिवार एक नौकरी' नाम की एक कथित सरकारी योजना भी चर्चा का विषय बनी हुई है. सोशल मीडिया पर कुछ लोग इस योजना का जिक्र करते हुए ऐसा कह रहे हैं कि केंद्र सरकार इसके तहत हर परिवार के एक व्यक्ति को रोजगार मुहैया कराएगी.

अधिक पढ़ें ...
    नई दिल्ली. कोरोना काल में कई लोगों की नौकरियां गई हैं. हालात ये है कि लोग नौकरियों के नाम पर फर्जीवाड़े का शिकार हो रहे हैं. कोई लोगों को राज्य सरकार की योजना का हवाला दे रहा है तो कोई केंद्र की योजना का. इस बीच सोशल मीडिया पर 'एक परिवार एक नौकरी' नाम की एक कथित सरकारी योजना भी चर्चा का विषय बनी हुई है. सोशल मीडिया पर कुछ लोग इस योजना का जिक्र करते हुए ऐसा कह रहे हैं कि केंद्र सरकार इसके तहत हर परिवार के एक व्यक्ति को रोजगार मुहैया कराएगी.

    एक यूट्यूब चैनल द्वारा दावा किया जा रहा है "एक परिवार एक सरकारी नौकरी योजना 2020. प्रधानमंत्री ने अपनी महत्वाकांक्षी एक परिवार-एक नौकरी योजना लागू कर दी, जिसके तहत राज्य के हर परिवार के कम से एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाएगी. इस योजना के लागू होने पर देश के युवाओं में भारी खुशखबरी का माहौल है."



    आखिरकार क्या है इसकी सच्चाई?
    इस खबर की पड़ताल करते हुए पीआईबी फैक्ट चैक ने ट्वीट किया है 'एक परिवार एक नौकरी' नाम की कोई योजना नहीं चला रही है. किसी भी सरकारी वेबसाइट पर हमें इस योजना का ब्यौरा नहीं मिला. अगर सरकार इतनी बड़ी किसी योजना का ऐलान करेगी, तो ये तय है कि देश के तमाम मीडिया और अखबारों में इसकी चर्चा होगी. लेकिन हमें किसी प्र​तिष्ठित मीडिया वेबसाइट में इससे संबंधित कोई खबर नहीं मिली.

    सरकारी नौकरी देने का ये फर्जी दावा पिछले कुछ महीनों से सोशल मीडिया पर घूम रहा है. इसीलिए पीआईबी फैक्ट चैक के सूचना विभाग ने भी मार्च में इस दावे का खंडन ​किया था.

    Tags: Fact Check, Social media

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर