Fact Check : क्या किसानों ने विरोध प्रदर्शन के दौरान कर दी BJP नेता की पिटाई? जानें सच

वायरल वीडियो का किसानों के विरेध प्रदर्शन से कोई संबंध नहीं है (VIDEO GRAB)
वायरल वीडियो का किसानों के विरेध प्रदर्शन से कोई संबंध नहीं है (VIDEO GRAB)

सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हो रहे इस वीडियो में भीड़ के बीच पगड़ी पहने हुए एक आदमी नजर आ रहा है. फेक्ट चेक (Fact Check) में इस वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है. ये वीडियो 2016 का है. इसका किसानों के विरोध प्रदर्शन से कोई संबंध नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 28, 2020, 12:05 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार की ओर से लाए गए कृषि विधेयकों (Agriculture Bills 2020) को लेकर देशभर में किसानों का प्रदर्शन जारी है. प्रदर्शन के दौरान कई जगहों पर आगजनी और तोड़फोड़ की खबरें भी आईं. इस बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें कुछ लोग एक आदमी के साथ मारपीट करते दिख रहे हैं. सोशल मीडिया पर दावा किया जा रहा है कि किसान बिल के विरोध में हरियाणा में एक बीजेपी नेता को पीट दिया गया. बीजेपी नेता का नाम सत्यम सिंह बताया जा रहा है. आइए जानते हैं वायरल हो रहे इस वीडियो और खबर के पीछे क्या है सच्चाई:-

क्या है दावा?
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में भीड़ के बीच पगड़ी पहने हुए एक आदमी नजर आ रहा है. भीड़ में से अचानक एक व्यक्ति पगड़ी वाले आदमी के चेहरे पर कालिख पोत देता है. पीछे से एक आदमी उसे जूता मारने लगता है. वीडियो से जुड़े कैप्शन में लिखा है- 'हरियाणा किसान बिल के रुझान आने लगे. पहला भूमि सूजन भाजपा नेता सत्यम सिंह का... जोरदार स्वागत किसानों द्वारा भाजपा कार्यालय में घुस कर.' धर्मेंद्र यादव नाम के एक यूजर ने इस वीडियो को फेसबुक पर शेयर किया है.

farmerssss
वायरल हो रहा वीडियो 4 साल पुराना है.

क्या है हकीकत?


फेक्ट चेक में इस वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है. दरअसल, ये वीडियो 2016 का है. इसका मौजूदा समय में चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन से कोई संबंध नहीं है. इस वीडियो को यू-ट्यूब पर 5 नवंबर 2016 को अपलोड किया गया था. यूट्यूब वीडियो के मुताबिक, ये हमला जाट समुदाय के लड़कों ने कुरुक्षेत्र के सांसद राजकुमार सैनी पर किया था.

VIDEO: जब कृषि बिल पर लोगों के सवालों का जवाब नहीं दे पाए बीजेपी MLA, भागने पर हुए मजबूर

ये वीडियो 'KADAK' नाम के एक वेरिफाइड यूट्यूब चैनल पर भी मिला. यहां पर भी वीडियो को नवंबर 2016 में राजकुमार सैनी पर हमले का वीडियो बताकर अपलोड किया गया था. वायरल पोस्ट का आर्काइव यहां देखा जा सकता है.



कब और कहां की है घटना?
हमारी जानकारी के मुताबिक, ये घटना 16 अक्टूबर 2016 को कुरूक्षेत्र के क्षत्रिय धर्मशाला में हुई थी. राजकुमार सैनी यहां एक सभा करने के लिए आये थे. इस दौरान सेल्फी लेने के बहाने कुछ लड़कों ने सैनी के चेहरे पर काली स्याही पोत दी. हाथापाई भी हुई थी. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सैनी के समर्थकों ने आरोपी युवकों को मौके पर ही पकड़ कर उनकी जमकर पिटाई की थी. बाद में इन युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था.

कृषि बिल पर बवाल, दिल्ली में कांग्रेसियों ने ट्रैक्टर में लगाई आग, पंजाब में प्रदर्शन

क्या निकला निष्कर्ष?
फेक्ट चेक में ये बात साफ हो जाती है कि वायरल वीडियो भ्रामक है. ये वीडियो चार साल पुराना है. जिस नेता के पिटाई का दावा किया जा रहा है, वीडियो में वो नेता है ही नहीं. इस घटना का अभी चल रहे किसान आंदोलन से कोई लेना-देना भी नहीं है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज