लाइव टीवी

6 साल में सबसे कम हुई GDP ग्रोथ तो कांग्रेस बोली- सब चंगा नहीं, सब मंदा सी...

News18Hindi
Updated: November 29, 2019, 6:37 PM IST
6 साल में सबसे कम हुई GDP ग्रोथ तो कांग्रेस बोली- सब चंगा नहीं, सब मंदा सी...
तस्वीर- News18/ Mir Suhail

NSSO के आंकड़े के अनुसार तिमाही में सकल मूल्य वर्द्धन (जीवीए) 4.3 प्रतिशत रहा. जबकि एक साल पहले 2018-19 की इसी तिमाही में यह 6.9 प्रतिशत थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 29, 2019, 6:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में विनिर्माण क्षेत्र में गिरावट और कृषि क्षेत्र में पिछले साल के मुकाबले कमजोर प्रदर्शन से चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी GDP) की वृद्धि दर 4.5 प्रतिशत पर रह गयी. एक साल पहले 2018-19 की इसी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर 7 प्रतिशत थी. वहीं चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में यह 5 प्रतिशत थी.

कांग्रेस (Congress) ने इस मुद्दे पर सरकार की खिल्ली उड़ाई है. जीडीपी के ताजा आंकड़ों को हालिया घटनाक्रमों के जरिए नाथू राम गोडसे से जोड़ते हुए GDP यानी ग्रॉस डॉमेस्टिक प्रॉडक्ट (सकल घरेलू उत्पाद) का फुलफॉर्म बताया है. आंकड़े आने के कुछ देर बाद ही कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सिंह सूरजेवाला ने ट्वीट किया. इसमें उन्होंने एक ओर तो गिरे आंकड़ों का जिक्र किया तो वहीं सरकार की खिल्ली भी उड़ाई.

सूरजेवाला ने लिखा- 'भारत की जीडीपी 4.5% तक गिर गई है. यह 6 साल में सबसे कम जीडीपी तिमाही है. लेकिन भाजपा जश्न क्यों मना रही है? क्योंकि उनकी समझ में GDP मतलब है गोडसे डिविज़िव पॉलिटिक्स.'

 



दूसरी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर 4.5 प्रतिशत
राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) द्वारा शुक्रवार को जारी जीडीपी आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष 2019-20 की जुलाई-सितंबर के दौरान स्थिर मूल्य (2011-12) पर जीडीपी 35.99 लाख करोड़ रुपये रहा जो पिछले साल इसी अवधि में 34.43 लाख करोड़ रुपये था. इस प्रकार, दूसरी तिमाही में आर्थिक वृद्धि दर 4.5 प्रतिशत रही.
Loading...

तिमाही में कृषि, वानिकी और मत्स्यन पालन क्षेत्र में 2.1 प्रतिशत और खनन और उत्खनन में 0.1 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी. वहीं विनिर्माण क्षेत्र में इस दौरान 1 प्रतिशत की गिरावट रही. इन तीनों समूह के खराब प्रदर्शन के कारण आर्थिक वृद्धि दर कमजोर रही.

इसके अलावा बिजली, गैस, जल आपूर्ति और अन्य उपयोगकी सेवाओं के क्षेत्र में चालू वित्त वर्ष जुलाई-सितंबर तिमाही में 3.6 प्रतिशत और निर्माण क्षेत्र में 3.3 प्रतिशत वृद्धि रहने का अनुमान लगाया गया है.

यह भी पढ़ें: GDP दर 6 साल में सबसे कम, जुलाई-सितंबर तिमाही में 4.5% रही

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 6:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...