Covid-19 FAQ : आपको कोरोना संक्रमण है या फ्लू? कैसे करें इलाज? यहां समझें सारी बातें

फ्लू और कोरोना वायरस के लक्षण एक जैसे ही होते हैं. इसलिए किसी भी व्यक्ति के लिए यह समझना काफी मुश्किल हो जाता है कि उसे सामान्य फ्लू है या कोरोना वायरस.
फ्लू और कोरोना वायरस के लक्षण एक जैसे ही होते हैं. इसलिए किसी भी व्यक्ति के लिए यह समझना काफी मुश्किल हो जाता है कि उसे सामान्य फ्लू है या कोरोना वायरस.

मौसम के बदलने पर फ्लू का खतरा भी बढ़ जाता है. हालांकि, फ्लू (Flu) की बीमारी कुछ ही समय में ठीक हो जाती है, लेकिन कुछ लोगों के लिए यह सिरदर्द बन जाती है. आपके मन में कभी यह सवाल आया होगा कि फ्लू और कोरोना वायरस (Covid-19) में क्या अंतर है. आइए जानते हैं कि फ्लू और कोरोना संक्रमण में क्या फर्क है और इसे कैसे पहचाने...

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 3:20 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस (Covid-19) के मामलों को लेकर लोगों में काफी ख़ौफ़ है. यह महामारी ऐसे समय में दुनिया के सामने आई है, जब मौसम भी करवट बदलता है. हम सभी यह जानते हैं कि मौसम के बदलने पर फ्लू का खतरा भी बढ़ जाता है. हालांकि, फ्लू की बीमारी कुछ ही समय में ठीक हो जाती है, लेकिन कुछ लोगों के लिए यह सिरदर्द बन जाती है. यह स्थिति लोगों के मन में दुविधा उत्पन्न करती है, क्योंकि उनके लिए फ्लू और कोरोना वायरस के बीच का अंतर पता लगाना काफी मुश्किल हो जाता है. आपके मन में कभी यह सवाल आया होगा कि फ्लू और कोरोना वायरस में क्या अंतर है. आइए जानते हैं कि फ्लू और कोरोना संक्रमण में क्या फर्क है और इसे कैसे पहचानें...

  • फ्लू क्या होता है?

    फ्लू से तात्पर्य ऐसे संक्रमण से है, जो मुख्य रूप से नाक, गले और फेफड़ों को नुकसान पहुंचता है. फ्लू को मेडिकल भाषा में इन्फ्लूएंजा (influenza) कहा जाता है, जो कुछ समय में अपने-आप ठीक हो जाता है.


  • फ्लू और कोरोना वायरस में क्या अंतर है?

    हालांकि, फ्लू और कोरोना वायरस के लक्षण एक जैसे ही होते हैं. इसलिए किसी भी व्यक्ति के लिए यह समझना काफी मुश्किल हो जाता है कि उसे सामान्य फ्लू है या कोरोना वायरस. फ्लू 4-7 दिनों तक ही रहता है, वहीं कोरोना वायरस अधिक समय तक रह सकता है. कोरोना वायरस के लक्षण समय बीतने के साथ ही गंभीर होने लगते हैं, जिनकी वजह से इससे पीड़ित लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.


  • क्या फ्लू एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है?

    जी हां, फ्लू एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है. इसी कारण, डॉक्टर फ्लू से पीड़ित लोगों को रूमाल का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं ताकि यह दूसरे लोगों को न हो.




  • कैसे समझें कि फ्लू ही है कोरोना नहीं?

    सामान्य तौर पर दोनों ही बीमारी में बुखार, खांसी, ठंड लगना और सांस की तकलीफ प्रमुख लक्षण हैं. लेकिन अगर आपको इन लक्षणों के साथ ही स्वाद और गंध नहीं मिलने की शिकायत है, तो कोरोना के लक्षण हो सकते हैं. ऐसे में आप सबसे पहले कोरोना का टेस्ट कराएं.


  • फ्लू और कोरोना से कोई कब तक संक्रमित रह सकता है?

    आमतौर पर फ्लू के लक्षण पूरी तरह से 4 दिन में दिखने लगते हैं और इससे संक्रमित एक हफ्ते के अंदर ठीक भी हो जाता है. वहीं, कोरोना का संक्रमण पूरी तरह से 14 दिन के अंदर समझ में आता है.


  • अगर किसी को फ्लू या कोविड -19 के लक्षण दिखें, तो डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

    अगर आपको फ्लू या कोरोना के कोई भी शुरुआती दो लक्षण दिखने लगे, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए और जहां तक संभव को खुद को दूसरों से अलग कर लेना चाहिए. अगर सामान्य बुखार और जुकाम है, खांसी नहीं है; तो फिक्र करने की जरूरत नहीं. आप तीन-चार दिन में एंटीबायोटिक से ठीक हो जाएंगे.


  • क्या फ्लू का टीका लगने से यह बताना आसान हो जाता है कि किसी को फ्लू है या कोविड-19 है?

    फ्लू का टीका कोरोना से बचाव नहीं करता है. फ्लू का टीका कुछ हद तक फ्लू फैलाने वाले वायरस को ही कंट्रोल करता है. लेकिन अभी तक कोरोना को कंट्रोल करने की वैक्सीन भारत में नहीं आई है.


  • फ्लू और कोरोना वायरस होने की आशंका किन लोगों में अधिक रहती है?

    फ्लू और कोरोना वायरस किसी भी उम्र के लोगों को हो सकती है. इसके अलावा ये बीमारियां कमज़ोर रोग-प्रतिरोधक क्षमता, अन्य बीमारी से पीड़ित, नशीले पदार्थों का सेवन करना इत्यादि लोगों को हो सकती हैं.


  • फ्लू और कोरोना वायरस का इलाज कैसे किया जा सकता है?

    कोरोना वायरस से आए दिन हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गंवा रहे हैं. इसी कारण, लोग इस वायरस को लाइलाज बीमारी समझने की गलती करते हैं और वे इसे मौत का दूसरा नाम समझते हैं. लेकिन यह साबित होता है कि अगर कोरोना वायरस की पहचान समय रहते कर ली जाए तो इससे छुटकारा मिल सकता है. इसके अलावा, फ्लू की बात की जाए तो इसके इलाज के काफी सारे तरीके हैं. जैसे फ्लू में पूरे शरीर में दर्द होता है, इसलिए इसके लिए दर्द निवारक दवाई ले सकते हैं. फ्लू से पीड़ित लोगों को पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ पीना चाहिए, ताकि उनके शरीर में पानी की कमी दूर हो सके.


  • फ्लू और कोरोना वायरस में क्या घरेलू नुस्खे कारगर साबित होते हैं?

    जी हां, फ्लू और कोरोना वायरस में घरेलू नुस्खे को अपनाया जा सकता है. ये घरेलू नुस्खे इन बीमारियों को ठीक करने में सहायक साबित हो सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज