पंजाब: किसानों की चिंता का समाधान करने के लिए आठ केंद्रीय मंत्री करेंगे डिजिटल रैलियां

किसानों की चिंताओं को दूर करने के लिए आठ केंद्रीय मंत्री डिजिटल माध्यम से रैलियां करेंगे.
किसानों की चिंताओं को दूर करने के लिए आठ केंद्रीय मंत्री डिजिटल माध्यम से रैलियां करेंगे.

Farm Laws: संसद के मानसून सत्र में पारित हुए और 27 सितंबर को राष्ट्रपति द्वारा अनुमोदित किए गए कृषि कानूनों को लेकर किसान लगातार विरोध कर रहे हैं जिनकी चिंताओं का समाधान करने के लिए केंद्रीय मंत्री रैलियां करने जा रहे हैं.

  • Share this:
चंडीगढ़. केंद्रीय कृषि कानूनों (Farm Laws) के विरुद्ध व्यापक स्तर पर विरोध प्रदर्शन के बीच किसानों (Farmers) की चिंताओं का समाधान करने के लिए आठ केंद्रीय मंत्री (8 Cabinet Minsiters), पंजाब (Punjab) में मंगलवार से आठ दिन तक रैलियों को संबोधित करेंगे. डिजिटल माध्यम से आयोजित इन रैलियों को संबोधित करने वाले मंत्रियों में नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी (Civil Aviation Minister Hardeep Singh Puri), जल शक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत (Jal Shakti Minister Gajendra Singh Shekhawat) और कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) शामिल हैं.

इनके अलावा कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी (Kailash Chaudhary), वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur), पशुपालन राज्यमंत्री संजीव बालियान (Sanjeev Baliyan), वाणिज्य एवं उद्योग राज्यमंत्री सोम प्रकाश (Som Prakash) और प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह (Jitendra Singh) भी डिजिटल सभाओं को संबोधित करेंगे. पंजाब भाजपा के संगठन सचिव सुभाष शर्मा की ओर से जारी एक वक्तव्य में कहा गया कि किसानों की चिंताओं को दूर करने के लिए आठ केंद्रीय मंत्री डिजिटल माध्यम से रैलियां करेंगे.

ये भी पढ़ें- MP by Election : CM शिवराज और उनके मंत्री के खिलाफ चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस



रागिनी गीतों के सहारे भी किसानों को समझाने की कोशिश
इससे पहले खबर आई थी कि राष्ट्रीय राजधानी के ग्रामीण क्षेत्रों (Rural Areas) में नए कृषि कानून (New Farm Laws) के समर्थन में प्रचार करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janta Party) की दिल्ली इकाई ‘रागिनी’ गीतों का सहारा लेगी और इसके लिए गायकों से संपर्क किया गया है. इन गीतों में यह संदेश दिया जाएगा कि इस कानून से किसानों को लाभ मिलेगा और कृषि क्षेत्र (Agricuture Sector) में सुधार होगा. पार्टी के नेताओं ने बताया कि आने वाले सप्ताह में दिल्ली के ग्रामीण इलाकों में ‘रागिनी’ कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे और इन कार्यक्रमों में गायक गीतों के माध्यम से लोगों को यह बताएंगे कि विपक्ष कैसे इन तीन कानूनों को लेकर ‘भ्रम फैला’ रहा है.

ये भी पढ़ें- त्योहारी सीजन शुरू होने से पहले बढ़ी महंगाई! सितंबर में खुदरा महंगाई दर 7.34%

दिल्ली इकाई के भाजपा उपाध्यक्ष सुनील यादव ने बताया कि नजफगढ़ (Najafgarh), मेहरौली (Mehrauli), उत्तर पश्चिम और बाहरी दिल्ली (North West & Outer Delhi) में आयोजित होने वाले इन कार्यक्रमों के लिए ‘रागिनी’ गायकों को तय कर लिया गया है.

दिल्ली में भाजपा के प्रचार के तौर पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों (Cultural Programmes) का संयोजन करने वाले यादव ने बताया कि इन ‘विशेष रागिनी गीतों’ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) नीत सरकार के कृषि विधयेकों (Farm Laws) के फायदों के बारे में लोगों को बताया जाएगा. ये विधेयक संसद के दोनों सदनों से पारित हो चुके हैं और अब ये कानून का रूप ले चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज