अपना शहर चुनें

States

'किसानों की चिंता में पीएम मोदी कई रातों तक नहीं सोए थे'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फाइल फोटो)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फाइल फोटो)

Farm Laws Farmers Protest: तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने और एमएसपी के लिए कानूनी गारंटी देने की मांग के साथ हजारों किसान कई दिनों से राष्ट्रीय राजधानी की विभिन्न सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 7, 2021, 7:38 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. कृषि कानूनों को लेकर देशभर में चल रहे किसान आंदोलनों से केंद्र सरकार के निपटने के तरीकों के बीच वेदांता रिसोर्स के कार्यकारी अध्यक्ष अनिल अग्रवाल ने उस वक्त को याद किया जब किसानों की ऐसी ही एक समस्या पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी चिंता जाहिर की थी.


रविवार को सिलसिलेवार किए गए ट्वीट में उन्होंने कहा, "हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए सर्वोच्च प्राथमिकता किसान हैं और वे हमेशा इस बारे में सोचते रहते हैं कि कैसे उनकी मदद की जा सकती है. पिछले साल फसलों पर टिड्डियों के हमले के दौरान की एक घटना मुझे याद है."


वे आगे लिखते हैं, "वे कई रातों तक सोए नहीं थे और उन्होंने इस समस्या को हल करने के लिए पूरी दुनिया से संपर्क किया. उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि मशीन की एयरलिफ्टिंग कराई जाए, ताकि युनाइटेड किंगडम से मशीनों को तुरंत भारत लाया जा सके. जब तक समस्या का समाधान नहीं मिला, उन्होंने आराम नहीं किया."


गौरतलब है कि तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने और फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) के लिए कानूनी गारंटी देने की मांग के साथ पंजाब, हरियाणा और देश के विभिन्न हिस्सों से आए हजारों किसान दो महीनों से अधिक समय से राष्ट्रीय राजधानी की विभिन्न सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं.



क्या है मामला
कृषि क्षेत्र में बड़े सुधार के तौर पर सरकार ने सितंबर में तीनों कृषि कानूनों को लागू किया था. सरकार ने कहा था कि इन कानूनों के बाद बिचौलिए की भूमिका खत्म हो जाएगी और किसानों को देश में कहीं पर भी अपने उत्पाद को बेचने की अनुमति होगी. वहीं, किसान तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े हुए हैं. प्रदर्शन कर रहे किसानों का दावा है कि ये कानून उद्योग जगत को फायदा पहुंचाने के लिए लाए गए हैं और इनसे मंडी और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की व्यवस्था खत्म हो जाएगी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज