होम /न्यूज /राष्ट्र /Farm Laws Repeal: सिंघु बॉर्डर पर 32 पंजाब जत्थे बंदी आज तय करेंगे आगे की रणनीति, MSP पर चर्चा संभव

Farm Laws Repeal: सिंघु बॉर्डर पर 32 पंजाब जत्थे बंदी आज तय करेंगे आगे की रणनीति, MSP पर चर्चा संभव

किसान और सरकार पक्ष के बीच करीब 11 दौर की चर्चाएं हो चुकी हैं, लेकिन उस दौरान किसी ठोस मुद्दे पर सहमति नहीं बन सकी थी. (फोटो: AP)

किसान और सरकार पक्ष के बीच करीब 11 दौर की चर्चाएं हो चुकी हैं, लेकिन उस दौरान किसी ठोस मुद्दे पर सहमति नहीं बन सकी थी. (फोटो: AP)

Three Farm Laws Repeal: एसकेएम ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है. मोर्चा की तरफ से बयान जारी किया गया, 'एसकेएम इस ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने तीन कृषि कानूनों (Three Farm Laws) को वापस लेने का ऐलान कर दिया है. इसे लेकर किसान संगठन खुश हैं, लेकिन आंदोलन को तत्काल खत्म करने की बात से इनकार कर रहे हैं. इसे लेकर शनिवार को सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर जत्थे बंदियों की अहम बैठक होने वाली है. इसके अलावा कांग्रेस पार्टी (Congress) भी कानून वापसी के फैसले पर आज विजय दिवस मनाने की तैयारी कर रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने जानकारी दी थी कि संसद सत्र के दौरान कानून वापसी की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी.

    किसान आंदोलन की आगे की रणनीति को लेकर सिंघु बॉर्डर पर बैठक होने जा रही है. शनिवार दोपहर आयोजित होने जा रही इस बैठक में 32 जत्थेबंदियां भाग लेंगे. तीन कानूनों के वापसी के ऐलान के बाद अब किसानों ने एमएसपी और बिजली का मुद्दा उठा दिया है. संयुक्त किसान मोर्चा ने सरकार को याद दिलाया है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य और बिजली अध्यादेश संशोधन विधेयक की वापसी भी अभी बाकी है.

    एसकेएम ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है. मोर्चा की तरफ से बयान जारी किया गया, ‘एसकेएम इस फैसले का स्वागत करता है और संसदीय प्रक्रिया के जरिए घोषणा के प्रभाव में आने का इंतजार करेगा. अगर ऐसा होता है, तो यह भारत में एक साल के संघर्ष के लिए ऐतिहासिक जीत होगी.’ किसान नेता राकेश टिकैत का कहना है कि कानूनों का विरोध कर रहे किसान 29 नवंबर का इंतजार करेंगे.

    यह भी पढ़ें: Kisan Andolan : अभी खत्‍म नहीं होगा किसान आंदोलन, दिल्‍ली की सीमाओं पर डटे रहेंगे किसान…

    किसान और सरकार पक्ष के बीच करीब 11 दौर की चर्चाएं हो चुकी हैं, लेकिन उस दौरान किसी ठोस मुद्दे पर सहमति नहीं बन सकी थी. पीएम मोदी ने शुक्रवार को कहा, ‘हमें दुख है कि हम सभी किसानों को समझा नहीं सके. उनका एक वर्ग ही कानूनों का विरोध कर रहा था, लेकिन हमने उन्हें समझाने की कोशिश की.’

    कांग्रेस का प्लान
    कांग्रेस ने 20 नवंबर को विजय दिवस मनाने का फैसला किया है. इस दौरान किसानों के लिए देशभर में विजय रैलियां निकाली जाएंगी. खबर है कि कांग्रेस नेता आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले 700 किसानों के परिवार से मिलेंगे. साथ ही कैंडल मार्च और रैलियों का आयोजन भी किया जाएगा. ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के महासचिव (संगठन) केसी वेणुगोपाल ने सभी प्रदेश इकाइयों को राज्य, जिला और ब्लॉक स्तर पर रैलियां और कैंडल मार्च करने के लिए कहा है.

    Tags: Congress, Farmers Protest, MSP, Pm narendra modi, Singhu Border, Three Farm Laws

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें