Home /News /nation /

संसद में सोमवार को पेश होगा कृषि कानूनों की वापसी का बिल, सरकार ने लोकसभा की कार्यसूची में डाला

संसद में सोमवार को पेश होगा कृषि कानूनों की वापसी का बिल, सरकार ने लोकसभा की कार्यसूची में डाला

संसद की फाइल फोटो

संसद की फाइल फोटो

Farm Laws Repeal Bill: पिछले साल सितंबर महीने में केंद्र सरकार विपक्षी दलों के भारी विरोध के बीच कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) कानून, कृषि (सशक्तीकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा करार कानून तथा आवश्यक वस्तु संशोधन कानून, 2020 लाई थी. इनके विरोध में करीब एक साल से प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों की मुख्य मांग इन तीनों कानूनों को रद्द करना है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली/अनूप गुप्ता. तीनों कृषि कानूनों (Three Farm Laws) को वापस करने से संबंधित विधेयक को संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन यानी कि आगामी सोमवार को ही लोकसभा में पेश किया जाएगा. सरकार ने लोकसभा की कार्यसूची में इस विधेयक को शामिल किया है. इन तीन कृषि कानूनों के विरोध में पिछले करीब एक वर्ष से दिल्ली की सीमाओं पर लगभग 40 किसान संगठन विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 19 नवंबर को राष्ट्र के नाम संबोधन में तीन कृषि कानूनों को वापस लेने के फैसले की घोषणा की थी. इसी पृष्ठभूमि में कुछ ही दिन बाद बीते 24 नवंबर को केंद्रीय मंत्रिमंडल (Union Cabinet) ने कृषि कानूनों को निरस्त करने संबंधी विधेयक, 2021 को मंजूरी दी थी.

    क्या डेल्टा से ज्यादा खतरनाक है कोविड का नया वेरिएंट? कितनी असरदार होगी वैक्सीन; जानें सब कुछ

    गौरतलब है कि पिछले साल सितंबर महीने में केंद्र सरकार विपक्षी दलों के भारी विरोध के बीच कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) कानून, कृषि (सशक्तीकरण और संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा करार कानून तथा आवश्यक वस्तु संशोधन कानून, 2020 लाई थी. इनके विरोध में करीब एक साल से प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों की मुख्य मांग इन तीनों कानूनों को रद्द करना है. सरकार ने जहां इन कानूनों को किसानों की आय बढ़ाने वाला महत्वपूर्ण कदम बताया था, वहीं किसानों ने कहा कि ये कानून उन्हें कॉरपोरेट घरानों पर आश्रित कर देंगे.

    कोविड के नए स्ट्रेन पर क्या कहते हैं दुनिया के टॉप-5 एक्सपर्ट्स, जानें कितना है घातक?

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 नवंबर को राष्ट्र के नाम संबोधन में कृषि कानूनों के संदर्भ में कहा था कि वे देशवासियों से क्षमा मांगते हुए सच्‍चे मन से और पवित्र हृदय से कहना चाहते हैं कि शायद उनकी तपस्‍या में ही कोई कमी रही होगी जिसके कारण दिये के प्रकाश जैसा सत्‍य किसान भाइयों को वो समझा नहीं पाए.

    उन्होंने कहा था, “हमने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का, निरस्त करने का निर्णय लिया है. इस महीने के अंत में शुरू होने जा रहे संसद सत्र में हम इन तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की संवैधानिक प्रक्रिया को पूरा कर देंगे.” प्रधानमंत्री ने किसानों से अपील की थी कि वे अपने-अपने घर लौटें, अपने खेत और अपने परिवार के बीच लौटें.

    (इनपुट भाषा से भी)

    Tags: Farm Laws Repealed, Lok sabha, Three Farm Laws

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर