अपना शहर चुनें

States

Farmers Protest: लंबी लड़ाई की तैयारी के साथ दिल्ली मार्च पर निकले हैं किसान, दो महीने का राशन रखा है साथ

किसानों को दिल्ली बॉर्डर पर रोकने के लिये पुलिस प्रशासन पूरी तैयारी कर ली है.
किसानों को दिल्ली बॉर्डर पर रोकने के लिये पुलिस प्रशासन पूरी तैयारी कर ली है.

कृषि कानूनों (New Agriculture Law 2020) के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन (Farmers Protest) शुक्रवार को भी जारी है. बड़ी संख्या में किसान दिल्ली आने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर पुलिस ने कड़ी सुरक्षा की हुई है. किसानों की मंशा इस बार महीनेभर तक प्रदर्शन करने की है. इसके लिए वो घर से पूरी तैयारी करके चले हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2020, 10:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्र सरकार की ओर से हाल ही में पास किए गए कृषि कानूनों (New Agriculture Law 2020) के खिलाफ देशभर के किसान विरोध प्रदर्शन (Farmers Protest) करने के लिए दिल्ली आ रहे हैं. उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब के किसान संगठन 'दिल्ली चलो मार्च' के जरिये धरना- प्रदर्शन करना चाहते हैं. किसानों को दिल्ली बॉर्डर पर रोकने के लिये पुलिस प्रशासन पूरी तैयारी कर ली है. हालांकि, किसानों की मंशा इस बार महीनेभर तक प्रदर्शन करने की है. इसके लिए वो अपने साथ इंवर्टर, गैस, स्टोव समेत राशन-पानी और बिस्तर लेकर निकले हैं.

NDTV की एक रिपोर्ट में किसानों ने ये बात कही है. युवा किसान तरप्रीत उप्‍पल कहते हैं, 'हमारे पास दो से तीन महीने तक का स्टॉक है. राशन-पानी स्टोव, खाना, कपड़े, बिस्तर सब साथ लेकर चले हैं. रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने बताया, 'पांच हजार लिटर का टैंक, गैस स्‍टोव, इन्‍वर्टर ऐसी हर सुविधा जिसके बारे में आप सोच सकते हैं, हमारे पास है. गद्दे, रजाई भी ले आए हैं. पर्याप्त मात्रा में सब्जियां भी रख ली हैं.' इससे साफ है कि कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान इस बार जल्द घर लौटने वाले नहीं हैं. तरप्रीत कहते हैं, 'जितना भी दिल्‍ली में रुकना पड़ेगा, हम रुकेंगे, हम दिल्‍ली 'जीतने' के लिए आए हैं. '

Farmer's Protest: किसानों के आंदोलन के बावजूद कृषि कानून वापस लेने या बदलने को तैयार नहीं सरकार



तीन लाख किसान इस विरोध मार्च में ले रहे हिस्सा
किसान यूनियन के नेताओं ने दावा किया है कि करीब 3 लाख किसान इस विरोध मार्च में हिस्‍सा कर रहे हैं. प्रदर्शन में करीब 700 ट्रालियां है. गुरुवार को चंडीगढ़-दिल्ली हाईवे पर 15 किमी लंबा जाम लग गया. अंबाला हाईवे पर इकट्ठा हुए राज्य के किसानों को तितर-बितर करने के लिए सुरक्षाबलों ने उन पर पानी की बौछार भी की. यहां गुस्साए किसानों ने बैरिकेड्स तोड़ दिए. ऐसे में एहतियातन धारा 144 लगा दी गई है और 100 से ज्यादा किसान नेता हिरासत में लिए गए हैं.
दिल्ली पुलिस ने बढ़ाई चौकसीदिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने कोरोना वायरस संकट को देखते हुए किसानों को दिल्ली में किसी भी तरह के जमावड़े और रैली करने की इजाजत नहीं दी है. इस बीच दिल्ली पुलिस ने किसानों के 'दिल्ली चलो' विरोध मार्च के मद्देनजर राष्ट्रीय राजधानी के सीमावर्ती क्षेत्रों में अपनी निगरानी सख्त कर दी है. दिल्ली में 12 कंपनी फोर्स बाहर से बुलाई गई हैं. नई दिल्ली डिस्ट्रिक्ट और आसपास करीब 2500 पुलिसकर्मी तैनात हैं, जिनमें पैरमिलिट्री फोर्स भी शामिल है.सीमा पर रेत से भरे ट्रकों को किया गया तैनातयह पहला मौका है जब शहर की पुलिस ने सीमा पर रेत से भरे ट्रकों को तैनात किया है. सुरक्षा के उद्देश्य से ड्रोन भी तैनात किए गए हैं. पुलिस ने बताया कि सीमा को सील नहीं किया गया है लेकिन वे राष्ट्रीय राजधानी में प्रवेश करने वाले सभी वाहनों की जांच कर रहे हैं. सभी चौकियां मुस्तैद हैं.


दिल्ली-हरियाणा का सिंधु बॉर्डर सील
इस बीच दिल्ली-हरियाणा के सिंधु बॉर्डर पर भी किसानों का जमावड़ा लगने के आसार हैं. लिहाजा दिल्ली पुलिस ने बॉर्डर को सील कर दिया है, ताकि किसानों को दिल्ली आने से रोका जा सके. यहां बड़ी संख्या में पुलिसबल तैनात है.

Farmers Protest: 'दिल्ली मार्च' पर राशन-बिस्तर लेकर निकले किसान, सीमाएं सील, भारी संख्या में जवान तैनात- 10 अपडेट्स

यूपी के किसान आज दिल्ली-देहरादून हाईवे को करेंगे जाम
आज यूपी के किसान भी सड़कों पर उतरेंगे. भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि यूपी का किसान सड़क पर उतरेगा. टिकैत के मुताबिक आज सुबह 11 बजे से बहुत बड़ा प्रदर्शन होगा. राकेश ने कहा कि यूपी के किसान दिल्ली-देहरादून हाईवे को जाम करेंगे. प्रदर्शन के कारण एनसीआर में पहले से ही मेट्रो सेवा बंद है. नोएडा से दिल्ली मेट्रो नहीं जा पा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज