Assembly Banner 2021

अमृतसर: 169 दिनों बाद पटरियों से हटे किसान, ट्रेन सेवा फिर से बहाल

अमृतसर के पास रेल पटरियों पर किसानों ने प्रदर्शन खत्म कर दिया है. (फोटो: ANI/Twitter)

अमृतसर के पास रेल पटरियों पर किसानों ने प्रदर्शन खत्म कर दिया है. (फोटो: ANI/Twitter)

Farmers Protest: अमृतसर (Amritsar) के पास रेल पटरियों पर किसानों ने 169 दिनों से जारी प्रदर्शन खत्म कर दिया है. वहीं, किसान अब चुनावी राज्यों में जाकर भारतीय जनता पार्टी के विरोध की तैयारी कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2021, 9:38 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. पंजाब (Punjab) में अमृतसर के पास जांडियाला गुरु रेलवे स्टेशन (Jandiala Guru Railway Station) के नजदीक प्रदर्शनकारी किसानों (Protesting Farmers) ने 169 दिन से जारी ब्लॉक को खत्म कर दिया है. किसान स्टेशन से हट गए हैं. इसके बाद रेलवे प्रशासन रेलगाड़ियों के शुरुआत होने पर विचार कर रहा है. वहीं, राजधानी दिल्ली की सरहदों पर जारी विरोध भी अपना स्वरूप बदलने जा रहा है. किसानों ने टीम बनाकर चुनावी राज्यों में जाने का फैसला किया है. ये सभी किसान केंद्र सरकार (Central Government) के तीन कृषि कानूनों (New Farm Laws) का विरोध कर रहे हैं.

गुरुवार को अमृतसर के पास रेल पटरियों पर किसानों ने प्रदर्शन खत्म कर दिया है. यहां पर किसान बीते 169 दिनों से प्रदर्शन कर रहे थे. इसके बाद रेल प्रशासन ने गाड़ियों की आवाजाही को दोबारा शुरू करने की तैयारी शुरू कर दी है. स्टेशन मास्टर ने कहा है कि किसानों के हटने के बाद इस ट्रैक पर गाड़ियों का आवागमन आराम से शुरू हो सकेगा. उन्होंने कहा 'हम अधिकारियों को सूचित करेंगे कि इसके बाद किन गाड़ियों का आवागमन शुरू हो सकेगा. जब ट्रैक खाली हो जाएंगे, तो रेलगाड़ियों की आवाजाही सुचारू रूप से चल पाएगी.'

Youtube Video




यह भी पढ़ें: Kisan Andolan: धरने पर बैठे किसानों ने गर्मी को देखते हुए बदला खाने का मेन्‍यू, जानें अब क्‍या-क्‍या मिलेगा
चुनावी राज्यों में जाने की तैयारी
2021 में देश के 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं. अब किसानों ने आंदोलन का स्वरूप बदलने का फैसला किया है. गुरुवार को चंडीगढ़ में किसान नेता बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा 'किसानों को विरोध करते हुए 105 दिन पूरे हो चुके हैं. हमने टीम बनाने का फैसला किया है, जो उन 5 राज्यों में जाएंगे जहां चुनाव होने हैं.' इस दौरान उन्होंने किसानों की रणनीति को लेकर भी चर्चा की. उन्होंने बताया 'इस दौरान बीजेपी के अलावा किसी को भी वोट देने की अपील की जाएगी.' राजेवाल ने जानकारी दी के वे कोलकाता जाएंगे.

इस साल चार राज्य पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, केरल और एक केंद्र शासित प्रदेश पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव होने हैं. इन जगहों पर चुनावी प्रक्रिया आगामी 27 मार्च को शुरू हो जाएगी. मतदान का यह दौर 29 अप्रैल तक जारी रहेगा. इसके बाद 2 मई को मतगणना होनी है. खास बात है कि किसान और सरकार के बीच 11 दौर की बाचतीत हो चुकी है, लेकिन दोनों पक्षों के बीच किसी भी ठोस मुद्दे पर सहमति नहीं बन पाई है. सरकार ने किसानों को कानून में संशोधन और 18 महीनों के लिए सस्पेंड करने का प्रस्ताव दिया है, लेकिन किसान तीनों कानून वापस लिए जाने की मांग पर अड़े हुए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज