किसान आंदोलन पर विदेशी सिलेब्रिटी ने किए सवाल तो सरकार को मिला बड़े सितारों का साथ

सचिन तेंदुलकर समेत सुनील शेट्टी और अक्षय कुमार ने भारत की संप्रभुता का हवाला दिया है. (फाइल फोटो)

सचिन तेंदुलकर समेत सुनील शेट्टी और अक्षय कुमार ने भारत की संप्रभुता का हवाला दिया है. (फाइल फोटो)

सचिन तेंदुलकर, अक्षय कुमार, सुनील शेट्टी और सुरेश रैना जैसी भारतीय हस्तियों ने किसान आंदोलन को भारत का आंतरिक मुद्दा बताया है. अजय देवगन ने कहा है- इस झूठे प्रोपगेंडा में मत आइए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2021, 11:29 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के विरोध में आंदोलनरत किसानों को अंतरराष्ट्रीय हस्तियों (International Celebrities) का समर्थन मिलने के बाद भारतीय सितारों का साथ सरकार को मिला है. सचिन तेंदुलकर, अक्षय कुमार, सुनील शेट्टी और सुरेश रैना ने किसान आंदोलन को भारत का आंतरिक मुद्दा बताया है. वहीं किसान आंदोलन पर बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अजय देवगन ने अपने फैंस और लोगों से अपील की है कि 'भारत या भारतीय नीतियों के खिलाफ तैयार क‍िए जा रहे इस झूठे प्रोपगेंडा में मत आइए.'

बॉलीवुड के 'खिलाड़ी' अक्षय कुमार का भी रिएक्शन सामने आया है. अक्षय ने एक ट्वीट करते हुए कहा, 'किसान हमारे देश का एक अत्यंत महत्वपूर्ण हिस्सा हैं. और उनके मुद्दों को हल करने के लिए किए जा रहे प्रयास स्पष्ट हैं. मतभेद पैदा करने वाले किसी व्यक्ति पर ध्यान देने के बजाय एक सौहार्द्रपूर्ण संकल्प का समर्थन करें.'

हम सभी भारतीय अपना मस्तक ऊंचा किए हुए साथ खड़े हैं- लता मंगेशकर

लता मंगेशकर ने कहा है-भारत एक शानदार देश है और हम सभी भारतीय अपना मस्तक ऊंचा किए हुए साथ खड़े हैं. एक गर्वित भारतीय के तौर पर मुझे पूरा भरोसा है कि किसी भी तरह की परेशानी के समाधान में हम पूरी तरह सक्षम हैं. जय हिंद
'भारत की संप्रभुता से समझौता नहीं किया जा सकता है'-सचिन तेंदुलकर

सचिन तेंदुलकर ने कहा, 'भारत की संप्रभुता से समझौता नहीं किया जा सकता है. बाहरी ताकतें दर्शक हो सकती हैं लेकिन प्रतिभागी नहीं. भारतीय भारत को जानते हैं और भारत के लिए फैसला करना चाहिए. आइए एक राष्ट्र के रूप में एकजुट रहें.'

असहमति के इस दौर में हम सब एकजुट रहें- विराट कोहली



भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है-असहमति के इस दौर में हम सब एकजुट रहें. किसान हमारे देश का एक अभिन्न हिस्सा हैं. मुझे यकीन है कि सभी पक्षों के बीच एक सौहार्द्रपूर्ण समाधान मिल जाएगा जिससे शांति हो और सभी मिलकर आगे बढ़ सकें.

आधे सच से ज्यादा खतरनाक कुछ भी नहीं होता-सुनील शेट्टी

सुनील शेट्टी ने विदेश मंत्रालय के बयान के लिंक को शेयर करते हुए लिखा है कि हमें अपनी बात करते हुए व्यापक जानकारी हासिल करनी चाहिए क्योंकि आधे सच से ज्यादा खतरनाक कुछ भी नहीं होता है.

हर मुद्दा सौहार्दपूर्ण और निष्पक्ष बातचीत से ही हल होगा-सुरेश रैना

वहीं सुरेश रैना ने कहा है-एक देश के तौर पर हमारे पास आज ऐसे मुद्दे हैं जिनके समाधान की जरूरत है. ऐसे मुद्दे कल भी होंगे. लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि हम विभाजित हो जाएं और बाहरी शक्तियों का प्रयोग होने दें. हर मुद्दा सौहार्दपूर्ण और निष्पक्ष बातचीत से ही हल होगा.

इसके अलावा अनुपम खेर ने कहा है-हमारे देश के अंदरूनी मामलों में दख़ल देने वाले कुछ विदेशियों के लिए यह शेर अर्ज़ है...

रिंदे ख़राब हाल को ज़ाहिद ना छेड़ तू ,

तुझको परायी क्या पड़ी अपनी नबेड तू..

गौरतलब है कि अमेरिकी पॉप स्टार रिहाना द्वारा किसान आंदोलन का समर्थन किए जाने के बाद कई विदेशी हस्तियों ने इसे लेकर प्रतिक्रिया दी है. पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने भी किसानों के आंदोलन को समर्थन दिया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज