अपना शहर चुनें

States

20 राज्‍यों तक पहुंचेगा आंदोलन, शहरों में समर्थन जुटा रहे पंजाब के किसान नेता

देश भर में आंदोलन फैलाना चाह रहे हैं किसान. (Pic- AP)
देश भर में आंदोलन फैलाना चाह रहे हैं किसान. (Pic- AP)

Farmers Protest: इन किसान नेताओं का मकसद दिसंबर के अंत तक किसान आंदोलन को 20 राज्‍यों के करीब 500 शहरों तक पहुंचाना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 24, 2020, 8:27 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार की ओर से लाए गए कृषि कानूनों (Farm Laws) का विरोध कर रहे किसानों को दिल्‍ली की सीमा (Delhi Border) पर आंदोलन (Farmers Protest) करते हुए करीब 1 महीना हो गया है. इस दौरान सरकार से कई दौर की वार्ता हुई. लेकिन ये विफल रहीं. किसानों की मांग है कि सरकार इन कृषि कानूनों को वापस ले. इस बीच किसान अपना आंदोलन अब देश के अन्‍य हिस्‍सों में भी बढ़ाना चाहते हैं. इसके लिए पंजाब के किसान नेता कई शहरों का दौरा करके वहां समर्थन जुटा रहे हैं.

इंडियन एक्‍सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार इन किसान नेताओं का मकसद दिसंबर के अंत तक किसान आंदोलन को 20 राज्‍यों के करीब 500 शहरों तक पहुंचाना है. इसके लिए पंजाब के किसान नेता दिल्‍ली की सीमा पर स्थित आंदोलनस्‍थल को छोड़कर अन्‍य शहरों की ओर जा रहे हैं. यह जानकारी ऑल इंडिया किसान संघर्ष कोऑर्डिनेशन कमेटी (एआईकेएससीसी) ने दी है.

किसानों के इसी मकसद के तहत पंजाब की कीर्ति किसान यूनियन (केकेयू) के राज्‍य महासचिव सतबीर सिंह मंगलवार को मुंबई में थे. वहां वह पूर्व सांसद राजू शेट्टी और समाजसेविका प्रतिभा शिंदे की ओर से आयोजित की गई एक प्रदर्शन रैली में शामिल हुए थे. सतबीर सिंह ने इस पूरे घटनाक्रम पर कहा, 'केकेयू की राष्‍ट्रीय विग ऑल इंडिया किसान मजदूर सभा मुंबई में आयोजित इस प्रदर्शन रैली का हिस्‍सा था. पंजाब के करीब 25 किसान संघ एक ही उद्देश्‍य को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. मैं मुंबई अकेला गया था. एनडीए सरकार कहती है कि यह आंदोलन स‍िर्फ पंजाब तक ही सिमटा है. लेकिन अब हमें दूसरे राज्‍यों के किसान नेताओं का समर्थन मिल रहा है.'

वहीं बीकेयू (दकौंडा) के महासचिव जगमोहन सिंह पटियाला का कहना है, 'मैं 29 दिसंबर को एक प्रदर्शन रैली में हिस्‍सा लेने पटना जा रहा हूं. इस प्रदर्शन रैली का आयोजन बिहार के कई किसान संघ मिलकर कर रहे हैं. मैं वहां बतौर एआईकेसीसी के सदस्‍य और पंजाब कृषि संघ का प्रतिनिधि बनकर जा रहा हूं. मैं वहां स्‍थानीय किसानों और उनके नेताओं से बात करूंगा.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज