लाइव टीवी

चंद्रबाबू नायडू के काफिले पर फेंकी गईं चप्पलें, लगाए गए 'गो बैक नायडू' के नारे

News18Hindi
Updated: November 28, 2019, 2:58 PM IST
चंद्रबाबू नायडू के काफिले पर फेंकी गईं चप्पलें, लगाए गए 'गो बैक नायडू' के नारे
आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू इन दिनों अमरावती के दौरे पर हैं.

राज्य सरकार द्वारा स्टार्टअप एरिया को खत्म करने सहित अमरावती (Amaravati) में हुई हाल की घटनाओं को देखते हुए आंध्र प्रदेश (Andra Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू (Chandrababu Naidu) ने अमरावती का दौरा करने का फैसला किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2019, 2:58 PM IST
  • Share this:
अमरावती. तेलुगु देशम पार्टी (TDP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू (Chandrababu Naidu) के अमरावती (Amaravati) दौरे में गुरुवार को जमकर हंगामा हुआ. चंद्रबाबू नायडू से नाराज किसानों ने न केवल उनके काफिले पर चप्पल फेंकी बल्कि 'गो बैक नायडू' के नारे भी लगाए. इस दौरान गुस्साए किसान अपने हाथों में बैनर लिए हुए दिखाई दिए.

राज्य सरकार द्वारा स्टार्टअप एरिया को खत्म करने सहित अमरावती में हुई हाल की घटनाओं को देखते हुए नायडू ने अमरावती का दौरा करने का फैसला किया था. नायडू ने इस दौरे की शुरुआत उन्नावल्ली गांव में अपने निवास से शुरू की. अपनी इस यात्रा के दौरान वह किसानों से मिलने वाले हैं, जिन्होंने राज्य के विकास के लिए अपनी जमीनें छोड़ दी थीं. टीडीपी प्रमुख की यात्रा ऐसे समय में हो रही है जब अमरावती में वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) ने टीडीपी के ज्यादातर फैसलों पर रोक लगा दी है.

बता दें कि जैसे ही पूर्व मुख्यमंत्री वेंकटायपलेम गांव में घुसे, तभी आक्रोशित किसानों ने उनके काफिले को रोकने की कोशिश की और उनके काफिले पर चप्पलें फेंकीं. इस दौरान किसानों ने 'गो बैक चंद्रबाबू' के नारे लगाए और तख्तियां और बैनर भी लहराए. बताया जाता है कि नायडू के साथ गए कुछ कार्यकर्ताओं की वहां मौजूद किसानों के साथ झड़प हो गई, जिसके बाद तनाव बढ़ गया.

इसे भी पढ़ें :- जगन मोहन रेड्डी के कैंप कार्यालय और आवास पर 16 करोड़ किए जा रहे खर्च, विपक्ष हुआ हमलावर

एनडीए से अलग हुए थे चंद्रबाबू नायडू
आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने से केंद्र के इनकार से नाराज टीडीपी ने नरेंद्र मोदी की सरकार से हटने के कुछ दिनों बाद ही एनडीए से हटने का निर्णय भी लिया था. पार्टी द्वारा जारी आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया था कि राज्य के साथ हुए अन्याय के मद्देनजर पार्टी मोदी सरकार के खिलाफ एक अविश्वास प्रस्ताव लाएगी. यह अविश्वास प्रस्ताव लाने के साथ ही पार्टी ने महागठबंधन के निर्माण के प्रयासों के बीच कांग्रेस से हाथ भी मिलाए थे.
इसे भी पढ़ें :- चंद्रबाबू नायडू ने भारत के नक्शे में यह बदलाव करने पर अमित शाह को कहा 'शुक्रिया'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 28, 2019, 1:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर