चीन की मदद से अनुच्छेद 370 बहाल करने के फारूक के बयान को सिंघवी ने बताया- निंदनीय

सिंघवी ने कहा कि मनभेद और मतभेद अपनी जगह पर हैं (File Photo)
सिंघवी ने कहा कि मनभेद और मतभेद अपनी जगह पर हैं (File Photo)

Farooq Abdullah Statement: सिंघवी ने ये ट्वीट उन खबरों के बाद किया है जिनमें बताया गया था कि नेशनल कॉन्फ्रेंस (National Conference) के अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला (Former J&K CM Farooq Abdullah) ने एक साक्षात्कार में कहा है कि चीन के सहयोग से अनुच्छेद 370 को बहाल किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2020, 10:50 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक सिंघवी (Congress Leader Abhishek Singhvi) ने कश्मीर (Kashmir) में चीन (China) के सहयोग से अनुच्छेद 370 (Article 370) को बहाल करने के फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) के कथित बयान पर निशाना साधते हुए उसे निंदनीय करार दिया है. सिंघवी ने कहा कि मनभेद और मतभेद अपनी जगह पर हैं पर ऐसे समय में जब चीन सीमा पर नापाक इरादों के साथ तैनात है तो अब्दुल्ला का इस तरह का बयान देना बेहद गैर जिम्मेदाराना है. सिंघवी ने मंगलवार को अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया कि- "राजनीतिक विचारधारा, मतभेद, मनभेद सब अपनी जगह हैं लेकिन उस वक्त जब चीन हमारी सरहदों पर नापाक इरादों के साथ तैनात है, तब #FarooqAbdullah का चीन के पक्ष में बयान न केवल बेहद गैर जिम्मेदाराना है बल्कि निंदनीय भी"

सिंघवी ने ये ट्वीट उन खबरों के बाद किया है जिनमें बताया गया था कि नेशनल कॉन्फ्रेंस (National Conference) के अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला (Former J&K CM Farooq Abdullah) ने एक साक्षात्कार में कहा है कि चीन के सहयोग से अनुच्छेद 370 को बहाल किया जाएगा. इससे पहले अब्दुल्ला के इस बयान पर नेशनल कान्फ्रेंस ने इंकार करते हुए भाजपा पर आरोप लगाया था कि एक टीवी साक्षात्कार के दौरान उनकी टिप्पणियों को ‘‘पूरी तरह घुमा’’ दिया.


नेशनल कॉन्फ्रेंस ने दी थी ये सफाई
नेशनल कान्फ्रेंस के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हमारे अध्यक्ष पिछले वर्ष पांच अगस्त को संसद द्वारा अनुच्छेद 370 और 35-ए के अधिकतर प्रावधानों को रद्द करने पर लोगों के गुस्से को उजागर कर रहे थे जो हाल के महीने में वह लगातार करते रहे हैं. उन्होंने जोर दिया कि जम्मू-कश्मीर में कोई भी इन बदलावों को स्वीकार करने को तैयार नहीं है.’’ उन्होंने दावा किया कि चीन को लेकर एक सवाल के जवाब में अब्दुल्ला की टिप्पणियों को पात्रा ने ‘‘पूरी तरह तोड़-मरोड़’’ दिया, जिन्होंने एनसी अध्यक्ष पर चीन के उग्र रवैये और विस्तारवादी मंशा को उचित ठहराने का आरोप लगाया.



ये भी पढ़ें- उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने आखिर कैसे कोरोना वायरस को हराया, बताया अपना अनुभव

भाजपा पर लगाए थे आरोप
प्रवक्ता ने कहा, ‘‘संबित पात्रा को शब्दों को तोड़ने-मरोड़ने की आदत है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब्दुल्ला ने कभी भी नहीं कहा कि चीन के साथ मिलकर हम अनुच्छेद 370 की वापसी कराएंगे जैसा कि पात्रा ने संवाददाता सम्मेलन में दावा किया, उस दौरान उन्होंने अब्दुल्ला के कुछ पुराने बयानों को भी गलत तरीके से पेश किया.’’

इससे पहले पात्रा ने जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे की बहाली के मुद्दे पर अब्दुल्ला पर ‘‘देशद्रोही एवं देश विरोधी’’ टिप्पिणयां करने का आरोप लगाया और कहा कि वह ‘‘चीन में हीरो’’ बन गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज