थामे नहीं थम रही कोरोना की रफ्तार, मुंबई में 10 हजार से ज्यादा केस, दिल्ली 5000 के पार

मुंबई और दिल्ली में कोरोना के नए मामले रोज रिकॉर्ड बना रहे हैं. (सांकेतिक फोटो)

मुंबई और दिल्ली में कोरोना के नए मामले रोज रिकॉर्ड बना रहे हैं. (सांकेतिक फोटो)

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumabi) में 10 हजार से ज्यादा कोरोना मामले सामने आए हैं. महामारी के 31 लोगों ने जान गंवाई. इसी के साथ मुंबई में कुल कोरोना मामलों की संख्या 4,72,332 हो गई है. वहीं राजधानी दिल्ली (Delhi) में भी 24 घंटों के भीतर नए मामलों की संख्या 5 हजार के पार पहुंच गई है.

  • Share this:

नई दिल्ली/मुंबई. देश में कोरोना वायरस (Corona Virus) की तेज रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है. बीते 24 घंटे के भीतर आर्थिक राजधानी मुंबई (Mumbai) में 10 हजार से ज्यादा कोरोना मामले सामने आए हैं. महामारी से 31 लोगों ने जान गंवाई. इसी के साथ मुंबई में कुल कोरोना मामलों की संख्या 4,72,332 हो गई है. वहीं राजधानी दिल्ली (Delhi) में भी 24 घंटे के भीतर नए मामलों की संख्या 5 हजार के पार पहुंच गई है. 2340 लोगों की रिकवरी हुई है और 17 की मौत हुई. राजधानी में कोरोना के कुल मामलों की संख्या अब 6, 85, 062 हो चुकी है.

इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 11 सर्वाधिक प्रभावित राज्यों के साथ बैठक की है. इन 11 राज्यों में महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, दिल्ली, गुजरात, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, पंजाब और राजस्थान हैं. इन राज्यों के स्वास्थ्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में हर्षवर्धन ने कहा है कि देश का कोरोना रिकवरी रेट 92.38% है. साथ ही उन्होंने कहा कि तेजी से नए मामलों में बढ़ोतरी के बावजूद मृत्यु दर 1.30 प्रतिशत है.

Youtube Video

मुंबई में उठाए गए हैं सख्त कदम
मुंबई में कोरोना को रोकने के लिए राज्य सरकार की तरफ से सख्त कदम उठाए जा रहे हैं. टेस्टिंग की स्पीड बढ़ाने के साथ ही लोगों को कोरोना संबंधी नियमों के सख्त पालन की हिदायत दी गई है. सीएम उद्धव ठाकरे कह चुके हैं कि अगर यही हालत रही तो महाराष्ट्र में लॉकडाउन लगाया जा सकता है.

केजरीवाल सरकार ने आज रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया 

कोरोना के फैलते संक्रमण को रोकने के लिए अरविंद केजरीवाल सरकार ने आज रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया है. साथ ही दिल्ली सरकार अब माइक्रो कंटेनमेंट जोन पॉलिसी पर काम कर रही है. इसके तहत उन इलाकों को कंटेनमेंट जोन में तब्दील कर दिया जाता है जहां दो से तीन कोरोना संक्रमण के मामले सामने आते हैं. हालांकि, यह कंटेनमेंट जोन, माइक्रो कंटेनमेंट जोन से थोड़ा अलग होते हैं.



प्रभावित राज्यों में केंद्र ने भेजी हैं 50 टीमें

इससे पहले सोमवार को कोरोना की बेलगाम रफ्तार के मद्देनजर केंद्र सरकार ने उन राज्यों में केंद्रीय टीमें भेजी हैं जहां पर महामारी का प्रकोप बहुत ज्यादा है. इसी क्रम में महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़ में एक्सपर्ट्स की 50 टीमें तैनात की गई हैं. महाराष्ट्र के 30 जिलों, छत्तीसगढ़ के 11और पंजाब के 9 जिलों में केंद्रीय टीमें तैनात होंगी. कोरोना के रोजाना बढ़ते मामलों और मौत के आंकड़ों को देखते हुए टीमें रवाना की गई हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज