Home /News /nation /

केंद्र ने माना देश में कोरोना की तीसरी लहर, कहा- दूसरी लहर के मुकाबले हालात बेहतर | पढ़ें अहम बातें

केंद्र ने माना देश में कोरोना की तीसरी लहर, कहा- दूसरी लहर के मुकाबले हालात बेहतर | पढ़ें अहम बातें

कोरोना वायरस टेस्ट के लिए स्वैब सैम्पल लेते स्वास्थ्यकर्मी. (सांकेतिक फोटो)

कोरोना वायरस टेस्ट के लिए स्वैब सैम्पल लेते स्वास्थ्यकर्मी. (सांकेतिक फोटो)

Coronavirus Situation in India: सरकार ने कहा कि 15-18 वर्ष आयु वर्ग में 52 प्रतिशत ने अपनी कोविड टीके की पहली खुराक प्राप्त कर ली है. उसने कहा कि देश के 11 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड के 50,000 से अधिक उपचाराधीन मरीज हैं और 515 जिलों में साप्ताहिक संक्रमण दर पांच प्रतिशत से अधिक दर्ज की गई.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को भारत में कोविड महामारी (Covid Pandemic) की दूसरी और तीसरी लहर (Covid Third Wave) की तुलना कर मौतों और वैक्सीनेशन के आंकड़ों के अंतर के बारे में बताया. स्वास्थ्य मंत्रालय ने हाल ही बढ़े कोरोना मामलों को पहली बार तीसरी लहर के तौर पर बताया है. सरकार ने कहा कि भारत के 94 प्रतिशत वयस्कों को कोविड टीके (Covid Vaccination in India) की पहली खुराक दी जा चुकी है, जबकि 72 प्रतिशत लोगों का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है.

सरकार ने कहा कि 15-18 वर्ष आयु वर्ग में 52 प्रतिशत ने अपनी कोविड टीके की पहली खुराक प्राप्त कर ली है. उसने कहा कि देश के 11 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में कोविड के 50,000 से अधिक उपचाराधीन मरीज हैं और 515 जिलों में साप्ताहिक संक्रमण दर पांच प्रतिशत से अधिक दर्ज की गई.

दिल्ली की कोविड स्थिति पर सरकार ने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर की तुलना में तीसरी लहर में अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों की संख्या काफी कम है. सरकार ने कहा कि दिल्ली में 11-18 आयु वर्ग के लोगों में ऊपरी श्वास नलिका में कोरोना वायरस संक्रमण के सामान्य लक्षण हैं जबकि कोविड के लगभग 99 प्रतिशत वयस्क मरीजों में बुखार, खांसी, गले में खराश के सामान्य लक्षण हैं.

आइये जानते हैं स्वास्थ्य मंत्रालय ने तीसरी लहर को लेकर क्या-क्या कहा-

महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, गुजरात, ओडिशा, दिल्ली और राजस्थान में रोजाना सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए जा रहे हैं.
19 जनवरी को खत्म हुए सप्ताह में, भारत के 515 जिलों में वीकली पॉजिटिविटी रेट 5% से ज्यादा था.
स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा 30 अप्रैल 2021 को जब भारत में दूसरी लहर अपने चरम पर थी तब देश में 3 लाख 86 हजार 452 केस दर्ज किए गए थे और 3,059 मौतें हुई थीं जबकि एक्टिव केस 31,70,228 थे. इसमें दोनों वैक्सीन लगवा चुके लोग सिर्फ 2 फीसदी थे.
वहीं आज यानी 20 जनवरी 2022 को देश में 3,17,532 नए मामले, 380 मौतें और 19,24,051 एक्टिव केस हैं. जबकि दोनों वैक्सीन लगवा चुके लोगों का अनुपात 72% है.
आईसीएमआर के डायरेक्टर जनरल डॉ बलराम भार्गव ने कहा वैक्सीन कवरेज के चलते तीसरी लहर में भारत में गंभीर मामले देखने को नहीं मिल रहे हैं.
नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने कहा देश में पॉजिटिविटी रेट 16 फीसदी है जो कि काफी ज्यादा है. ये ओमिक्रॉन के चलते है.
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राजधानी दिल्ली में दूसरी और तीसरी लहर के बीच के अंतर को भी दिखाया, जिसके मुताबिक दिल्ली में फिलहाल अस्पतालों में कोविड बेड पर्याप्त मात्रा में मौजूद हैं.
स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में पर्याप्त कोविड -19 परीक्षण किया जा रहा है. राजेश भूषण ने कहा, "एक दिन के आंकड़े कोई रुझान नहीं दिखाते हैं. अगर एक दिन, कम परीक्षण और कम संख्या में संक्रमण होते हैं, तो यह हमारे काम का नहीं है, हम सप्ताह के हिसाब से डाटा पेश करते हैं, जिसमें असल तस्वीर सामने आती है."

Tags: Coronavirus, Omicron

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर