तेलंगानाः कोरोना टीकाकरण के 5 दिन बाद महिला स्वास्थ्यकर्मी की मौत, AEFI ने शुरू की जांच

देशभर में 16 जनवरी से वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू हो चुका है. (File)

स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) के मुताबिक शनिवार तक टीकाकरण (Coronavirus Vaccination) के बाद कुल छह मौतों की सूचना है. हालांकि कोई भी मौत कोरोना वायरस टीकाकरण के साथ यथोचित रूप से जुड़ी हुई नहीं है. अब तक 11 व्यक्तियों को अस्पताल में भर्ती कराये जाने की सूचना है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. तेलंगाना (Telangana) के वारंगल में 19 जनवरी को कोरोना वायरस वैक्सीन (Coronavirus Vaccination) का टीका लगने के बाद एक महिला स्वास्थ्य कर्मी की 5 दिन बाद रविवार को मौत हो गई. ANI ने इस बारे में जानकारी दी है. डिस्ट्रिक्ट एडवर्स इफेक्ट ऑफ्टर वैक्सीनेशन (AEFI) कमिटी मामले की जांच कर रही हैं और जल्द ही इस बारे में राज्य AEFI कमिटी को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी. बता दें कि 16 जनवरी से देश भर में कोरोना वायरस टीकाकरण कार्यक्रम शुरू हो गया है और प्राथमिकता के आधार पर स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए जा रहे हैं.

    स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को कहा था कि सात और राज्य अगले सप्ताह से स्वदेशी तौर पर विकसित ‘कोवैक्सीन’ टीका लगाएंगे. दरअसल ड्रग्स कंट्रोलर जनरल आफ इंडिया (डीसीजीआई) ने इस महीने की शुरुआत में भारत के सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा निर्मित ऑक्सफोर्ड कोविड-19 टीके ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक के स्वदेशी तौर पर विकसित ‘कोवैक्सीन’ को देश में सीमित आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दी थी, जिससे एक बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान का मार्ग प्रशस्त हो गया था.



    टीके के कारण किसी गंभीर प्रतिकूल प्रभाव का केस नहीं आया सामने
    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव मनोहर अगनानी ने एक मीडिया ब्रीफिंग में कहा कि वर्तमान में ‘कोवैक्सीन’ टीके का इस्तेमाल कर रहे 12 राज्यों के अलावा सात और राज्यों- छत्तीसगढ़, गुजरात, झारखंड, केरल, मध्य प्रदेश, पंजाब और पश्चिम बंगाल अगले सप्ताह से इस टीके का उपयोग करेंगे. अधिकारी ने कहा कि टीका लगाये जाने के बाद टीके के कारण कोई गंभीर प्रतिकूल प्रभाव या टीकाकरण से संबंधित कोई मृत्यु होने का कोई मामला सामने नहीं आया है.

    उन्होंने कहा, ‘‘अब तक कुल छह मौतों (टीकाकरण के बाद) की सूचना है. पिछले 24 घंटे में, गुरूग्राम निवासी 56 वर्षीय एक व्यक्ति की मृत्यु हुई है. पोस्टमॉर्टम से पुष्टि हुई है कि उसकी मृत्यु के लिए कार्डियो-पल्मोनरी बीमारी कारण था और वह टीकाकरण से संबंधित नहीं थी. इनमें से कोई भी मौत कोविड-19 टीकाकरण के साथ यथोचित रूप से जुड़ी हुई नहीं है.’’ अगनानी ने कहा कि टीकाकरण के बाद अब तक 11 व्यक्तियों को अस्पताल में भर्ती कराये जाने की सूचना है.

    उन्होंने कहा, ‘‘लगभग 0.0007 प्रतिशत लोगों को टीकाकरण के खिलाफ अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा है. पिछले 24 घंटे में आंध्र प्रदेश के गुंटूर के एक सरकारी अस्पताल में एक व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिसे 20 जनवरी को टीका लगाया गया था.’’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.