असम: तेजपुर में सुखोई SU-30 क्रैश, दोनों पायलट सुरक्षित

News18Hindi
Updated: August 9, 2019, 8:04 AM IST
असम: तेजपुर में सुखोई SU-30 क्रैश, दोनों पायलट सुरक्षित
सुखोई-SU 30

भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) का एक सुखोई-30 एमकेआई (Sukhoi-30 MKI) विमान गुरुवार रात असम में तेजपुर के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 9, 2019, 8:04 AM IST
  • Share this:
भारतीय वायुसेना का एक सुखोई-30 एमकेआई (Sukhoi-30 MKI) विमान गुरुवार रात असम में तेजपुर के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया. रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल हर्षवर्धन पांडे ने बताया कि विमान के दोनों पायलट विमान से निकलने में कामयाब रहे और उन्हें सुरक्षित बचा लिया गया. उन्होंने बताया कि इनमें से एक पायलट की टांग में चोट लगी है.

रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल हर्षवर्धन पांडे ने बताया कि सुखोई-30 एमकेआई (Sukhoi-30 MKI) लड़ाकू विमान एक नियमित प्रशिक्षण मिशन पर था. यह रात करीब 8:30 बजे मिलनपुर क्षेत्र में दुर्घटनाग्रस्त होकर धान के एक खेत में गिर गया और उसमें आग लग गई.

दुर्घटना के कारणों का पता लगाने को ‘कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी’ का आदेश
रक्षा प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल हर्षवर्धन पांडे ने बताया कि दुर्घटना में किसी सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचा है. रक्षा प्रवक्ता ने बताया कि स्थानीय लोगों ने दोनों पायलटों को तेजपुर स्थित सेना के बेस अस्पताल पहुंचाया.

अग्निशमन विभाग ने कहा कि आग बुझाने के लिए दमकल गाड़ियां घटनास्थल पर भेजी गईं. आधिकारिक सूत्रों ने दिल्ली में बताया कि दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए ‘कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी’ का आदेश दिया गया है.

माना जाता है भारत का सबसे आक्रामक लड़ाकू विमान
सुखोई (Sukhoi) लड़ाकू विमान का वर्जन सुखोई-30 एमकेआई (Sukhoi-30 MKI) लड़ाकू विमान भारत का सबसे आक्रामक लड़ाकू विमान माना जाता है. भारत का यह लड़ाकू विमान लंबे वक्त से भारत के दुश्मनों के छक्के छुड़ा रहा है.
Loading...

इस विमान की मारक क्षमता 3000 किमी तक होती है. सुखोई-30 में उड़ान के दौरान आकाश में ही फ्यूल भी भरा जा सकता है. इसके अलावा यह करीब 12 टन तक युद्ध सामग्री को अपने साथ ले जा सकता है.

अब भारत में भी होता है सुखोई लड़ाकू विमानों का निर्माण
मूलत: रूसी इस लड़ाकू विमान का निर्माण अब भारत में भी होने लगा है. रूस के निर्माता सु्खोई और भारतीय कंपनी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) मिलकर इसका निर्माण नासिक में करते हैं. भारत के पास मौजूद आधिकारिक सुखोई विमानों की संख्या 242 थी. जो अब इस दुर्घटना के बाद 241 हो गई होगी. (भाषा के इनपुट के साथ)

यह भी पढ़ें: US की PAK को फटकार- भारत को छोड़ो पहले आतंकवादियों को संभालो

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 9, 2019, 4:51 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...