लाइव टीवी

चेन्नई: वित मंत्री निर्मला सीतारमण के सामने एयरपोर्ट पर लगे ‘NPR हाय हाय’ के नारे, आरोपी गिरफ्तार

News18Hindi
Updated: January 19, 2020, 5:10 PM IST
चेन्नई: वित मंत्री निर्मला सीतारमण के सामने एयरपोर्ट पर लगे ‘NPR हाय हाय’ के नारे, आरोपी गिरफ्तार
वित मंत्री निर्मला सीतारमण ने चेन्नई में सीएए के समर्थन में एक कार्यक्रम को संधोधित किया (file photo)

पुलिस (Police) ने बताया कि निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitaraman) के एयरपोर्ट पहुंचने पर एक व्यक्ति ने ‘एनपीआर हाय हाय’ के नारे लगाने शुरू कर दिए. जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 19, 2020, 5:10 PM IST
  • Share this:
चेन्नई.  केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitaraman) रविवार को नागरिकता संशोधित कानून (CAA) के समर्थन में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करने चेन्नई पहुंचीं. इस दौरान चेन्नई एयरपोर्ट पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के सामने एक व्यक्ति ने ‘एनपीआर हाय हाय’ के नारे लगाए. हालांकि, नारे लगाने वाले व्यक्ति को सुरक्षा अधिकारियों ने हिरासत में ले लिया.

पुलिस ने बताया कि वह व्यक्ति एयरपोर्ट पर अपने किसी रिश्तेदार से मिलने आया था और सुरक्षा के कड़े इंतजाम देख उसने इस संबंध में पूछताछ की. उन्होंने बताया कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के वहां आने का पता चलते ही उसने ‘एनपीआर (राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर) हाय हाय’ के नारे लगाने शुरू कर दिए, जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

'भेदभाव का आरोप लगाना गलत'
निर्मला सीतारमण यहां सीएए के समर्थन में आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करने पहुंची थीं, जो कि कानून के समर्थन में चलाए जा रहे बीजेपी के ‘जन जागरण अभियान’ का हिस्सा है. इस दौरान वित्त मंत्री ने  बताया कि साल 2016 से 2018 के बीच भारत ने करीब दो हज़ार मुसलमानों को नागरिकता दी. उन्होंने कहा कि इन आंकड़ों से साफ है कि CAA लाने के बाद हमारे खिलाफ जो भी भेदभाव के आरोप लग रहे हैं, वो सारे गलत हैं.

वित्त मंत्री के मुताबिक, भारत ने साल 2016 से 2018 के बीच अफगानिस्तान के 391 और पाकिस्तान के 1595 मुसलमानों को नागरिकता दी गई. इसमें अदनान सामी और तसलीमा नसरीन जैसे लोग भी शामिल हैं.



तमिल शरणार्थियों को भी नागरिकता
सीतारमण ने नागरिकता को लेकर कई आंकड़े सामने रखे. उन्होंने कहा, 'पिछले 6 साल में हज़ारों शरणार्थियों को नागरिकता दी गई, जिसमें पाकिस्तान के 2838, अफगानिस्तान के 914, बांग्लादेश के 172 शरणार्थी शामिल है. इसमें कई मुसलमान भी शामिल हैं. इसके अलावा भारत ने 1964 से 2008 के बीच 4 लाख तमिल शरणार्थियों को भी नागरिकता दी.'

ये भी पढ़ें-
दो साल में करीब 2000 मुसलमानों को दी गई नागरिकता: निर्मला सीतारमण

CAA पर बोले योगेंद्र यादव- PM मोदी को लाखों हाथ में राष्ट्रीय ध्वज नहीं दिखता

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 3:40 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर