इस खासियत के साथ 1,2,5,10 और 20 रुपये के नए सिक्के होंगे जारी

अपने पहले बजट भाषण में वित्‍तमंत्री ने कहा कि जलजीवन मिशन के तहत 2024 तक सभी ग्रामीण परिवारों के हर घर को जल उपलब्‍ध कराया जाएगा.

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 3:18 PM IST
इस खासियत के साथ 1,2,5,10 और 20 रुपये के नए सिक्के होंगे जारी
अपने पहले बजट भाषण में वित्‍तमंत्री ने कहा कि जलजीवन मिशन के तहत 2024 तक सभी ग्रामीण परिवारों के हर घर को जल उपलब्‍ध कराया जाएगा.
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 3:18 PM IST
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को Budget 2019 पेश किया. बजट को देश का बहीखाता करार देते हुए सीतारमण ने कई बड़े ऐलान तो किए ही साथ ही शेरो शायरियों के जरिये अपनी बात कहीं. इस दौरान वित्त मंत्री ने ऐलान किया कि 1, 2, 5, 10 और 20 रुपये के नए सिक्के जारी किए जाएंगे.

सीतारमण ने कहा, 'इन सिक्कों को दृष्टि बाधित लोग आसानी से पहचान सकेंगे. उन्होंने कहा कि 7 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन सिक्कों को जारी कर चुके हैं. ये सिक्के जल्द ही सार्वजनिक तौर पर उपलब्ध हो जाएंगे.'

बुनियादी ढांचे में निवेश पर होगा जोर
इससे पहले केंद्रीय वित्‍त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारामन ने शुक्रवार को 2019-20 का बजट पेश करते हुए कहा कि भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था इस वर्ष 3 ट्रिलियन डॉलर की हो रही है. उन्होंने कहा कि परचेजिंग पॉवर की समानता के रूप में यह विश्‍व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था है. सीतारमण ने कहा कि सरकार की इच्‍छा अगले पांच वर्षों में बुनियादी ढांचे में 100 लाख करोड़ रुपये निवेश करना और 2019-20 में एक लाख 5 हजार करोड़ रुपये के विनिवेश लक्ष्‍य को बढ़ाना है.

क्रेडिट को बढ़ावा देने के लिए पीएसबी को 70 हजार करोड़
सीतारमण ने कहा कि  क्रेडिट को बढ़ावा देने के लिए पीएसबी को 70 हजार करोड़ रुपये उपलब्‍ध कराने का प्रस्‍ताव, अंतिम पांच वर्षां में खाद्य सुरक्षा बजट को दोगुना करना, 10 हजार करोड़ रुपये के खर्च से विद्युत वाहनों को तेजी से अपनाना, अफ्रीका में 18 नए भारतीय दूतावास मिशन खोलना,‍ 17 महत्‍वपूर्ण पर्यटन स्‍थलों का विकास किया जाएगा.

यह भी पढ़ें:  Budget 2019: इनकम टैक्स देने वालों के लिए बड़ा ऐलान, रिटर्न भरना होगा आसान
Loading...

अपने पहले बजट भाषण में वित्‍तमंत्री ने कहा कि जलजीवन मिशन के तहत 2024 तक सभी ग्रामीण परिवारों के हर घर को जल उपलब्‍ध कराया जाएगा, 2022 तक प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत सभी को घर उपलब्‍ध कराया जाएगा.

20 आजीविका व्‍यापार केंद्रों और 20 तकनीकी व्‍यापार केंद्रों की स्‍थापना
उन्होंने कहा कि अगले 5 वर्षों में पीएमजीएसवाई-3 के तहत 80 हजार करोड़ रुपये से अधिक की लागत से 1,25,000 किलोमीटर लंबी ग्रामीण सड़कें बनायी जाएंगी. इन सड़कों की हर मौसम में कनेक्टिविटी 97 प्रतिशत से अधिक होगी. बांस, शहद और खादी कलस्‍टरों के तहत आम सुविधा केंद्रों की स्‍थापना की जाएगी.

बजट में कृषि ग्रामीण उद्योग क्षेत्रों में 75 हजार कुशल उद्यमियों के विकास के लिए 2019-20 के दौरान 20 आजीविका व्‍यापार केंद्रों और 20 तकनीकी व्‍यापार केंद्रों की स्‍थापना, अर्थव्‍यवस्‍था के ग्रामीण और कृषि क्षेत्रों में किए जाने वाले महत्‍वपूर्ण और नए काम हैं.

यह भी पढ़ें: पेट्रोल-डीज़ल होगा इतने रुपये तक महंगा, जानें बजट का सबसे बड़ा फैसला
First published: July 5, 2019, 3:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...