तारक मेहता का उल्टा चश्मा की 'बबीता जी' के खिलाफ हांसी में FIR, यह है मामला

मुनमुन दत्‍ता के खिलाफ एफआईआर. (File pic)

मुनमुन दत्‍ता के खिलाफ एफआईआर. (File pic)

जिन धाराओं में मुनमुन दत्ता (Munmun Dutta) के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है यह सारी धाराएं गैर जमानती हैं तथा इन धाराओं में अग्रिम जमानत का प्रावधान भी नहीं है.

  • Share this:

हांसी/हिसार. टीवी धारावाहिक तारक मेहता का उल्टा चश्मा की बबीता जी यानी अभिनेत्री मुनमुन दत्ता (Munmun Dutta) के खिलाफ नेशनल अलायंस फॉर दलित ह्यूमन राइट्स के संयोजक रजत कलसन की शिकायत पर हांसी की पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है. यह एफआईआर आईपीसी की विभिन्‍न धाराओं में दर्ज की गई है. इसमें अनुसूचित जाति व जनजाति अत्याचार अधिनियम भी शामिल है.

बता दें कि जिन धाराओं में मुनमुन दत्ता के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है यह सारी धाराएं गैर जमानती हैं तथा इन धाराओं में अग्रिम जमानत का प्रावधान भी नहीं है.

लिहाजा यह मुकदमा दर्ज होने के चलते मुनमुन दत्ता उर्फ बबीता जी मुसीबतों में फंसती नजर आ रही हैं. मामला यह है कि तारक मेहता का उल्टा चश्मा की अभिनेत्री मुनमुन दत्ता उर्फ बबीता जी ने इंस्टाग्राम के एक वल्गर सोसाइटी नाम के चैनल पर एक वीडियो डाला था जिसमें उन्‍होंने कहा था कि उन्हें यूट्यूब पर आना है तथा वे अच्छा दिखना चाहती हैं.

इसके साथ ही उन्‍होंने आपत्तिजनक शब्‍द इस्‍तेमाल किए थे. यह कहकर मुनमुन दत्ता ने अनुसूचित जाति समाज के खिलाफ एक अपमानजनक टिप्पणी कर दी जिसको लेकर नेशनल अलायंस फ़ॉर दलित हृयूमन राइट्स के संयोजक रजत कलसन ने 11 मई को हांसी की पुलिस अधीक्षक को एक लिखित शिकायत व आरोपी मुनमुन दत्ता की वीडियो वाली सीडी प्रस्तुत की थी जिस पर हांसी की पुलिस अधीक्षक निकिता गहलोत ने थाना शहर हांसी को एफआइआर दर्ज करने के आदेश दे दिए. जिसके बाद थाना शहर हांसी में मुनमुन दत्ता के खिलाफ औपचारिक एफआईआर दर्ज कर ली गई.
कुछ इस तरह से ही युवराज सिंह ने भी इंस्टाग्राम पर दलित समाज के खिलाफ एक अभद्र टिप्पणी कर दी थी जिसके बाद हांसी के थाना शहर में ही उनके खिलाफ एक मुकदमा दर्ज हुआ था जिसमें गिरफ्तारी से बचने के लिए युवराज सिंह ने हाईकोर्ट का रुख किया है. वे भी अनुसूचित जाति समाज पर टिप्पणी करने के चलते कानूनी पचड़े में फंसे हुए हैं तथा उन पर भी गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज