लाइव टीवी

निलंबित डीजी मुकेश गुप्ता के खिलाफ भिलाई के सुपेला थाने में FIR दर्ज

Mithilesh Thakur | News18 Chhattisgarh
Updated: June 18, 2019, 11:23 AM IST
निलंबित डीजी मुकेश गुप्ता के खिलाफ भिलाई के सुपेला थाने में FIR दर्ज
पुलिस अफसर मुकेश गुप्ता पर धोखाधड़ी समेत कई धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया गया है. (फाइल फोटो).

दुर्ग जिले के सुपेला थाना में मुकेश गुप्ता के खिलाफ एक और एफआईआर दर्ज कर लिया गया है. पुलिस अफसर मुकेश गुप्ता पर धोखाधड़ी समेत कई धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया गया है.

  • Share this:
नागरिक आपूर्ति निगम के कथित घोटाला मामले में फोन टैपिंग के आरोप में निलंबित डीजी मुकेश गुप्ता की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. मुकेश गुप्ता पर ईओडब्ल्यू की जांच पहले से ही चल रही है. अब दुर्ग जिले के सुपेला थाना में मुकेश गुप्ता के खिलाफ एक और एफआईआर दर्ज कर लिया गया है. पुलिस अफसर मुकेश गुप्ता पर धोखाधड़ी समेत कई धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया गया है.

माणिक मेहता की शिकायत के बाद मुकेश गुप्ता पर सुपेला थाने में एफआईआर दर्ज कर लिया है. पुलिस के मुताबिक माणिक मेहता ने शिकायत की है कि मुकेश गुप्ता वर्ष 1998 के जून माह में दुर्ग में पुलिस अधीक्षक थे. इस दौरान वे भिलाई साडा में पदेन सदस्य भी थे. उन्होंने अपने पद और प्रभाव का दुरुपयोग करते हुए मोतीलाल नेहरू आवासीय योजना ( पश्चिम ) में ब्लाक क्रमांक 67, भूखंड क्रमांक 5 कुल 540 वर्ग मीटर का आवंटन अपने नाम से प्राप्त कर लिया था.

कूटरचित दस्तावेज प्रस्तुत
माणिक मेहता ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया कि मुकेश गुप्ता ने 9 जून 1998 को कूटरचित दस्तावेजों के आधार पर 2928 वर्ग फुट के आबंटित भूखण्ड के स्थान पर, उससे लगभग दोगुने भूखण्ड ( 5810.40 वर्ग फुट ) की 11 जून 1998 को रजिस्ट्री अपने नाम से करवा ली थी. जबकि चेक की राशि 13 जून 1998 को जमा हुई थी. यानी कि बिना पैसे दिए ही मुकेश गुप्ता ने विघटित हो चुके साडा से अपने नाम उक्त जमीन करवा ली थी.

पुलिस को सूचना नहीं
माणिक मेहता की शिकायत के अनुसार जमीन को खरीदने के पश्चात मुकेश गुप्ता ने पुलिस विभाग को किसी तरह की कोई सूचना नहीं दी और बगैर अनुमति के उस जमीन पर बेशकीमती इमारत भी बनवा ली. जब इस मामले की चर्चा होने लगी तब मुकेश गुप्ता ने इस मकान को 42 लाख रुपये में बेच दिया और दिल्ली में एक करोड़ 5 लाख रुपए से एक दूसरा मकान खरीद लिया.

कौन हैं माणिक मेहतासुपेला थाने में शिकायतकर्ता माणिक मेहता मिक्की मेहता के भाई हैं. मिक्की मेहता ने मुकेश गुप्ता की पत्नी होने का दावा किया था. मिक्की मेहता के परिजनों ने कहा था कि मुकेश गुप्ता शादीशुदा होने के बाद भी मिक्की मेहता से शादी की थी. इसके बाद मिक्की मेहता की संदिग्ध मौत हो गई. इस संदिग्ध मामले की जांच भी चल रही है.

ये भी पढ़ें: धमतरी में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 1 महिला नक्सली ढेर 

ये भी पढ़ें: भूपेश सरकार ने किसानों पर सबसे ज्यादा 20 हजार करोड़ रुपये खर्च किए 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 18, 2019, 11:21 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर