वडोदरा: अस्पताल में बच्चों के वॉर्ड में शॉर्टसर्किट से लगी भीषण आग, दमकल की गाड़ियां पहुंची

News18Hindi
Updated: September 10, 2019, 7:03 PM IST
वडोदरा: अस्पताल में बच्चों के वॉर्ड में शॉर्टसर्किट से लगी भीषण आग, दमकल की गाड़ियां पहुंची
वडोदरा के SSG हॉस्पिटल में भीषण आग लग गई है (फोटो- ANI)

गुजरात (Gujarat) के वडोदरा (Vadodara) में SSG अस्पताल के बाल चिकित्सा विभाग (Pediatrics Department) में भीषण आग लगने की ख़बर सामने आई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 10, 2019, 7:03 PM IST
  • Share this:
वडोदरा. गुजरात (Gujarat) के वडोदरा (Vadodara) में SSG अस्पताल के बाल चिकित्सा विभाग (Pediatrics Department) में भीषण आग लगने की ख़बर सामने आई है. काफी मशक्कत के बाद फिलहाल आग पर काफी हद तक काबू पा लिया गया है और घायलों के लिए राहत और बचाव कार्य जारी है. हालांकि इस आग की घटना में किसी भी शख्स के हताहत होने का पता नहीं चला है.

बता दें जिस समय यह आग लगी अस्पताल के बाल चिकित्सा विभाग में 35 नवजात अपने परिजनों के साथ मौजूद थे. इन सभी बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है.

शॉर्ट सर्किट को बताया जा रहा आग की वजह
फिलहाल आग पर काबू पा लिया गया है और वहां उपस्थित लोगों ने अस्पताल के बाल चिकित्सा विभाग में आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई है.

वहां मौजूद लोगों ने बताया कि एसएसजी अस्पताल में आग लगते ही अस्पताल परिसर में हड़कंप मच गया. आनन-फानन में वॉर्डो से सभी बच्चों को बाहर निकाला गया. अस्पताल ने तुरंत इस घटना की जानकारी पुलिस और दमकल विभाग को दी. फिलहाल दमकल विभाग की टीम मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाने की कोशिश में जुटी है.



सूरत आग कांड के बाद सरकार ने अग्नि सुरक्षा उपकरण स्थापित करने के दिए थे आदेश
इससे पहले गुजरात में आग लगने की एक घटना काफी चर्चित हुई थी. जिसमें सूरत में एक अवैध ढांचे में आग लगने के कारण 22 विद्यार्थियों की मौत हो जाने के बाद गुजरात सरकार ने राज्य में 9,000 से अधिक संपत्तियों के बिल्डरों से अग्नि सुरक्षा के उपकरण स्थापित करने को कहा गया था. इनमें से 1,100 संपत्तियां सूरत में है.

इस घटना में सूरत के सरथना इलाके में स्थित तीन मंजिला इमारत तक्षशिला में चौथी मंजिल पर एक ढांचा बना कोचिंग चलाई जा रही थी. जिसमें आग लगने के बाद बच्चों ने चौथी मंजिल से ही कूदना शुरू कर दिया था जिसमें 22 विद्यार्थियों की जान गई थी. ये सारे विद्यार्थी 14 से 17 साल की उम्र के थे.

यह भी पढ़ें: वडोदरा के रामपाल शाह का नायाब अंदाज, हेलमेट पर वाहन के दस्तावेज लगाकर चलते हैं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 10, 2019, 6:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...