सूरत के कोचिंग सेंटर में आग, 19 बच्चों समेत 20 की मौत, जान बचाने के लिए बिल्डिंग से कूदे छात्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर गहरा दुख जताया है. उन्होंने गुजरात सरकार को तत्काल राहत देने के आदेश दिए हैं

News18Hindi
Updated: May 24, 2019, 11:31 PM IST
News18Hindi
Updated: May 24, 2019, 11:31 PM IST
गुजरात के औद्योगिक शहर सूरत में शुक्रवार को एक दिल दहलाने वाला हादसा हुआ. यहां के सरथाणा इलाके में स्थित एक इमारत में भीषण आग लग गई. इस हादसे में एक टीचर और 19 छात्रों की दर्दनाक मौत हो गई. बताया जा रहा है कि यह एक व्यावसायिक इमारत है जिसका नाम तक्षशिला है. इसमें कोचिंग सेंटर चल रहा था और यहां बड़ी संख्या में बच्चे मौजूद थे. अचानक लगी आग से अफरा-तफरी मच गई और वहां पढ़ रहे बच्चे इमारत की तीसरी मंजिल पर फंस गए.

आग इतनी तेजी से फैली कि बच्चों को बाहर निकलने का कोई रास्ता नहीं मिला. आग के धुएं से कई बच्चे वहीं बेहोश हो गए. जान बचाने की घबराहट में कई छात्रों ने इमारत से छलांग लगाना शुरू कर दिया. वो बिना किसी सहारे के सीधे नीचे कूद गए. इस हादसे में अभी तक 19 बच्चों की मौत हो गई है, जबकि एक टीचर की भी इसमें जान चली गई है. इस घटना में 10 अन्य लोग गंभीर रूप से घायल बताए जा रहे हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.



राहुल ने भी जताया दुख
Loading...

इस हादसे के बाद राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर कहा कि गुजरात में हुए इस हादसे की खबर से काफी दुख पहुंचा है. पीड़ित परिवारों के प्रति मैं संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के जल्द से जल्द स्वस्‍थ्य होने की कामना करता हूं.



नहीं पहुंची फायर ब्रिगेड
स्‍थानीय लोगों ने बताया कि जैसे ही आग लगने का पता चला, इसकी जानकारी फायर स्टेशन को दी गई लेकिन फायर ब्रिगेड समय पर नहीं पहुंची जिससे आग ने विकराल रूप ले लिया. जान बचाने के लिए अंदर फंसे छात्रों ने इमारत के ऊपर से छलांग लगानी शुरू कर दी. इस दौरान स्‍थानीय लोगों ने सीढ़ी लगाकर बच्चों को बचाने का भी प्रयास किया लेकिन वो नाकाम साबित हुए.

आग लगने के बाद छलांग लगाते बच्चे. नोट: हादसा भयावह था और कुछ फोटो व वीडियो आपको विचलित कर सकते हैं.


आग पर काबू पाया गया
फायर ब्रिगेड ने कड़ी मशक्कत के बाद एक घंटे में आग पर काबू पा‌या. उन्होंने इमारत के अंदर जाकर यह पता लगाने की कोशिश की कि कोई और वहां फंसा तो नहीं रह गया. फायर ब्रिगेड के कर्मचारी और पुलिस मौके पर सघन जांच कर रही है. आग लगने की वजहों का फिलहाल पता नहीं चल सका है. बताया जा रहा है कि घटना के वक्त कोचिंग सेंटर में 30 से ज्यादा बच्चे मौजूद थे.

पीएम मोदी ने हादसे पर जताया अफसोस
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस हादसे पर दुख जताया है. उन्होंने गुजरात सरकार को फौरन राहत पहुंचाने के आदेश दिए हैं.



सीएम रूपाणी ने जांच के दिए आदेश
मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने हादसे पर दुख जताया है. उन्होंने हादसे की जांच के न्यायिक आदेश दिए हैं. रूपाणी ने कहा कि मैं हादसे में मारे गए लोगों के परिवार के साथ हूं, घायल हुए बच्चों के जल्द ही कुशल होने की कामना करता हूं. सीएम ने इस हादसे में मारे गए लोगों को मुआवजे के रूप में 4 लाख रुपये देने की घोषणा की है. स्टेट अरबन डवलपमेंट विभाग को इमारत की जांच के आदेश दिए गए हैं.

नड्डा ने दिए एम्स निदेशक को टीम बनाने के निर्देश
स्वास्थ्य मंत्री जे पी नड्डा ने सूरत हादसे पर डॉक्टरों की एक टीम बनाने के निर्देश एम्स के निदेशक को दिए हैं। यदि जरूरत पड़ी तो डॉक्टरों की टीम सूरत के लिए भी रवाना की जाएगी. वहीं एम्स ट्रॉमा सेंटर में बेड्स को भी रिजर्व किया गया.

ये भी पढ़ें:  आजम खान से हारीं जया प्रदा करेंगी पार्टी में 'गद्दारी' की शिकायत

लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: मोदी के ये सात 'ब्रह्मास्त्र', जिनके आगे ढ़ेर हुआ पूरा विपक्ष

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 24, 2019, 5:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...