Assembly Banner 2021

कर्नाटक में मिला दक्षिण अफ्रीका वाला कोरोना वायरस, एक शख्स पीड़ित

टीके की दोनों खुराक लेने के बावजूद सुरक्षित बने रहने के लिए लोगों को मास्क पहनना चाहिए

टीके की दोनों खुराक लेने के बावजूद सुरक्षित बने रहने के लिए लोगों को मास्क पहनना चाहिए

Karnataka Coronavirus: बुलेटिन के अनुसार ब्रिटेन से लौटे 64 लोग और उनके संपर्क में आए 26 लोग आरटी-पीसीआर जांच (कोविड के मौजूदा स्वरूप) में वायरस से संक्रमित पाए गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 10, 2021, 11:43 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमण के दक्षिण अफ्रीकी स्वरूप का पहला मामला सामने आया है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने इस मामले की विस्तृत जानकारी नहीं दी है.

राज्य में कोरोना वायरस के ब्रिटिश स्वरूप से अब तक 29 लोग संक्रमित पाए जा चुके हैं. बुलेटिन के अनुसार ब्रिटेन से लौटे 64 लोग और उनके संपर्क में आए 26 लोग आरटी-पीसीआर जांच (कोविड के मौजूदा स्वरूप) में वायरस से संक्रमित पाए गए हैं.

अब तक 9 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित
कर्नाटक में दस मार्च की शाम तक कुल 9,56,801 लोग वायरस से संक्रमित पाए जा चुके हैं. इनमें से 12,379 लोगों की मौत हो चुकी है. 9,36,947 लोगों को ठीक होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है. राज्य में उपचाराधीन रोगियों की संख्या 7,456 है.
पहले सूरत में पाया गया था संक्रमित


इससे पहले गुजरात के सूरत शहर में मंगलावार को एक व्यक्ति को कोरोना वायरस के दक्षिण अफ्रीकी स्वरूप से संक्रमित पाया गया, जबकि दो अन्य को वायरस के ब्रिटिश स्वरूप से संक्रमित पाया गया था. एक अधिकारी ने कहा कि उनमें से किसी का भी यात्रा इतिहास नहीं था और लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि वायरस के ये स्वरूप अधिक संक्रामक हैं.

सूरत में भी सामने आ चुके हैं साउथ अफ्रीकी स्ट्रेन के मामले
नगर निगम आयुक्त बी एन पाणि ने नए रोगियों के बारे में ट्वीट किया और जनता से मास्क पहनने और भीड़-भाड़ वाली जगहों से बचने सहित सभी सावधानी बरतने की अपील की.

ये भी पढ़ेंः- CM उद्धव ठाकरे ने लोगों से कहा- लॉकडाउन से बचना चाहते हैं तो अभी भी समय है, सोच लें

सूरत में पहले भी कोरोना वायरस के ब्रिटिश स्वरूप से संक्रमित पाए गए तीन रोगी सामने आए थे. उप नगर निगम आयुक्त (स्वास्थ्य) डॉ आशीष नाइक ने कहा कि ये सभी छह मरीज सूरत के हैं और उनमें से किसी ने भी विदेश यात्रा नहीं की थी. उन्होंने कहा, "ये अत्यधिक संक्रामक स्वरूप हैं और इसलिए लोगों को अतिरिक्त सावधानी बरतनी चाहिए."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज