भारत के महत्‍वाकांक्षी गगनयान मिशन के लिए 2021 के अंत में जाएगी पहली मानवरहित फ्लाइट

इसरो का महत्‍वाकांक्षी मिशन है गगनयान.
इसरो का महत्‍वाकांक्षी मिशन है गगनयान.

पहले मानवरहित फ्लाइट 2020 में प्रस्‍तावित थी. फिर यह कोरोना महामारी के कारण 2021 के मध्‍य में प्रस्‍तावित हुई. इसके बाद यह 2021 के अंत में होना तय हुई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2020, 8:33 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. भारत के महत्‍वाकांक्षी अंतरिक्ष मिशन गगनयान (Gaganyaan) की तैयारी से जुड़ी हुई पहली मानवरहित फ्लाइट का तय समय अब आगे बढ़ गया है. पहले यह 2020 में प्रस्‍तावित थी. फिर यह कोरोना महामारी के कारण 2021 के मध्‍य में प्रस्‍तावित हुई. इसके बाद यह 2021 के अंत में होना तय हुई है. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) इसके बाद इंसानों को अंतरिक्ष में भेजने के क्रम में दूसरी मानवरहित फ्लाइट 2022 में भेज सकता है.

टाइम्‍स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक इसरो चेयरमैन के सिवन ने जानकारी दी है कि अंतरिक्ष में इंसानों को भेजने के लिए ह्यूमन रेटिंग की प्रक्रिया ठीक तरह से चल रही है. उनके अनुसार यह प्रक्रिया 2021 के मध्‍य तक खत्‍म हो जाएगी. बता दें कि गगनयान की तैयारियों में जुटा इसरो मानवरहित फ्लाइट के तहत स्‍वदेशी रूप से बनाए गए रोबोट को अंतरिक्ष में भेजेगा.

जून में इसरो चेयरमैन के सिवन ने इस प्रोजेक्‍ट के आगे बढ़ने के संबंध में प्रतिक्रिया दी थी. उन्‍होंने तब कहा था, 'अगर हम अगले साल दो मानवरहित मिशन भी लॉन्‍च करते हैं तो यह उस समय की परिस्थितियों पर निर्भर करेगा. हमें आने वाले कुछ महीनों में हालात को देखते हुए निर्णय लेना होगा. अगर कोविड 19 के ऐसे ही हालात जारी रहते हैं तो हमें अपने प्रोजेक्‍ट की कुछ चीजों को दोबारा प्‍लान करना पड़ेगा.'

प्रधानमंत्री मोदी ने 2 साल पहले की थी घोषणा


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो साल पहले स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में मानव अंतरिक्ष मिशन की घोषणा की थी. गगनयान मिशन का उद्देश्य भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने के मौके पर 2022 तक तीन सदस्यीय दल को पांच से सात दिन की अवधि के लिए अंतरिक्ष में भेजना है. उसी हिसाब से इसरो ने मिशन की योजना बनानी शुरू कर दी थी. इसके तहत पहले मानवरहित मिशन को दिसंबर 2020 में भेजने की योजना बनाई गयी और दूसरे मानवरहित मिशन को जून 2021 में भेजने का विचार है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज