सुप्रीम कोर्ट जज के रूप में ऐसे बीता जस्टिस इंदु मल्होत्रा का पहला दिन

Utkarsh Anand | News18Hindi
Updated: April 27, 2018, 5:53 PM IST
सुप्रीम कोर्ट जज के रूप में ऐसे बीता जस्टिस इंदु मल्होत्रा का पहला दिन
जस्टिस इंदु मल्होत्रा की फाइल फोटो

सुप्रीम कोर्ट की परंपरा है कि जॉइनिंग के पहले दिन कोई भी जज कोर्ट नंबर एक में बैठता है. इस परंपरा का पालन करते हुए जस्टिस मल्होत्रा कोर्ट नंबर एक में सीजेआई की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय बेंच के साथ बैठीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2018, 5:53 PM IST
  • Share this:
जस्टिस इंदु मल्होत्रा का शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में जज के रूप में पहला दिन था. उनकी नियुक्ति को लेकर जारी विवादों के बीच कोर्ट में पहले दिन उनका गर्मजोशी से स्वागत हुआ. सभी जजों ने सुबह सवा दस बजे उनका लाउंज में स्वागत किया. वह यहां सीजेआई दीपक मिश्रा के साथ पहुंची.

जैसे ही वह दाखिल हुईं सभी जजों ने मुस्कुरा कर उनका स्वागत किया.

सूत्रों ने सीएनएन न्यूज 18 को बताया कि कुछ जजों ने इंदु मल्होत्रा से यह भी कहा कि वे एक और सिस्टर जज पाकर खुश हैं और जस्टिस केएम जोसेफ के प्रमोट न होने से उनका कोई लेना देना नहीं है.

जजों के लाउंज में रस्मी चाय नाश्ते के बाद वह कोर्ट नंबर 1 में गईं, जहां सीजेआई ने उन्हें 10:30 बजे पद और गोपनीयता की शपथ दिलवाई. शपथ ग्रहण के बाद जस्टिस मल्होत्रा और उनके परिवार का हाई-टी के लिए जजों के लाउंज में स्वागत किया गया. जजों ने उनका स्वागत किया और उनके परिवार को शुभकामनाएं दीं.

सुप्रीम कोर्ट की परंपरा है कि जॉइनिंग के पहले दिन कोई भी जज कोर्ट नंबर एक में बैठता है. इस परंपरा का पालन करते हुए जस्टिस मल्होत्रा कोर्ट नंबर एक में सीजेआई की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय बेंच के साथ बैठीं.

जस्टिस मल्होत्रा की सुप्रीम कोर्ट जज के रूप में नियुक्ति का कई लोगों ने विरोध किया था. कॉलेजियम ने मल्होत्रा के साथ-साथ उत्तराखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस केएम जोसेफ का नाम भी केंद्र सरकार के पास भेजा था. केंद्र सरकार ने मल्होत्रा के नाम पर सहमति दे दी लेकिन जस्टिस जोसेफ के नाम को पुनर्विचार के लिए कॉलेजियम को वापस भेज दिया.

एक दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट के कुछ वकीलों ने अपील भी दायर की थी कि जब तक केंद्र सरकार जोसेफ के नाम पर सहमति नहीं देती तब तक मल्होत्रा की नियुक्ति पर रोक लगाई जानी चाहिए. हालांकि सीजेआई ने इससे इनकार कर दिया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 27, 2018, 5:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...