Home /News /nation /

ANALYSIS: जयललिता-करुणानिधि के बिना बेरंग है BJP-AIADMK का गठबंधन

ANALYSIS: जयललिता-करुणानिधि के बिना बेरंग है BJP-AIADMK का गठबंधन

गठबंधन की घोषणा के बाद ओपीएस-ईपीएस के साथ बीजेपी नेता पीयूष गोयल

गठबंधन की घोषणा के बाद ओपीएस-ईपीएस के साथ बीजेपी नेता पीयूष गोयल

रजनीकांत के 2019 का चुनाव न लड़ने और किसी भी पार्टी को समर्थन देने से मना करने के बाद यह बात साफ हो गई है कि अब मूल रूप से मुकाबला बीजेपी-एआईएडीएमके और कांग्रेस-डीएमके गठबंधन के बीच है

  • News18.com
  • Last Updated :
    वीरराघव टीएम

    तमिलनाडु में बीजेपी और एआईएडीएम के बीच गठबंधन होने की काफी उम्मीद थी, क्योंकि एआईएडीएमके राज्य में अपनी सरकार बचाने के लिए केंद्र पर निर्भर है. चूंकि डीएमके पहले ही कांग्रेस के साथ गठबंधन कर चुकी है और स्टालिन ने पीएम के उम्मीदवार के रूप में राहुल गांधी के नाम की घोषणा कर दी है तो ऐसी स्थिति में एआईएडीएमके के पास बीजेपी ही बड़े विकल्प के रूप में बचती है. फिर 2016 में जयललिता के निधन के बाद एआईएडीएमके अब उतनी मज़बूत भी नहीं रह गई है. हालांकि, सवाल यह है कि इस गठबंधन का क्या असर पड़ेगा.

    पढ़ेंः शशिकला के भाई का खुलासा- 4 दिसंबर को ही हो गई थी जयललिता की मौत
    रजनीकांत के 2019 का चुनाव न लड़ने और किसी भी पार्टी को समर्थन देने से मना करने के बाद यह बात साफ हो गई है कि अब मूल रूप से मुकाबला बीजेपी-एआईएडीएमके और कांग्रेस-डीएमके गठबंधन के बीच है.


    यह भी जानना ज़रूरी है कि एआईएडीएमके का ही दूसरा धड़ा, जो कि टीटीवी दिनाकरन की अगुवाई मे जयललिता के निधन के बाद अलग हो गया था, उसकी सत्ताधारी पार्टी के साथ जाने की कम संभावना है. क्योंकि, दोनों के बीच संबंध काफी तल्ख हो गए हैं और 2019 के चुनाव में एआईएडीएमके और टीटीवी दिनाकरन की पार्टी दोनों ही अपने को फिर से तमिलनाडु में स्थापित करने की कोशिश करेंगी.

    पूरी खबर को विस्तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर