टॉप मिलिट्री मीट को पीएम मोदी करेंगे संबोधित, पहली बार जवान भी लेंगे भाग

बैठक इस सप्ताह के अंत तक हो सकती है (Photo-ANI)

बैठक इस सप्ताह के अंत तक हो सकती है (Photo-ANI)

Combined Commanders' Conference: संयुक्त कमांडरों के सम्मेलन में होने वाली चर्चा में जवानों को शामिल किए जाने का सुझाव खुद प्रधानमंत्री के कार्यालय की ओर से आया है.

  • Share this:

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) द्वारा संबोधित किए जाने वाले कमांडरों के संयुक्त सम्मेलन (Combined Commanders' Conference) में पहली बार सशस्त्र बल के जवान भी हिस्सा लेंगे. ये कार्यक्रम इस सप्ताह के आखिर में आयोजित किया जाएगा. संयुक्त कमांडरों के सम्मेलन में अब तक केवल कमांडर-इन-चीफ रैंक के अधिकारी शामिल होते थे, जिनके साथ उनके संबंधित सेवा प्रमुखों को प्रधानमंत्री द्वारा संबोधित किया जाता है और सरकार द्वारा कथित सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के निर्देश दिए जाते हैं.

सरकार के सूत्रों ने एएनआई को बताया कि जवान विभिन्न चर्चाओं में हिस्सा लेंगे जिसमें कि सेना और ऑपरेशन से जुड़े मुद्दे भी शामिल होंगे. सूत्रों ने बताया कि जवानों को चर्चा में शामिल किए जाने का सुझाव खुद प्रधानमंत्री के कार्यालय की ओर से आया है. चर्चा में भाग लेने वाले जवानों में जूनियर कमिशंड ऑफिसर, नॉन कमिशंड ऑफिसर होंगे जो कि उन्हें दिए गए मुद्दों पर अपनी प्रेजेंटेशन देंगे.

ये भी पढ़ें- वैज्ञानिकों ने की अंतरिक्ष के तूफानों की पुष्टि, जानिए क्या होते हैं ये

सूत्रों ने कहा कि बलों के कामकाज के लिए जवानों की अंतर्दृष्टि रोजाना में बहुत काम आती है और हालिया भारत चीन संघर्ष के दौरान भी, जवानों ने खाइयों की खुदाई और चीन के खिलाफ रक्षा के निर्माण के दौरान बहुमूल्य सुझाव दिए.
प्रधानमंत्री ने संयुक्त कमांडरों के सम्मेलन के संचालन के सामान्य तरीके को बदल दिया है क्योंकि अब ये दक्षिण ब्लॉक में होने के बजाय ऑपरेशनल बेसेस पर किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- 1 मिनट में 700 गोली दागती है ये गन, अब LAC-LOC पर सैनिकों के हाथ में आएगी नजर

2014 में दक्षिण ब्लॉक में हुए पहले सम्मेलन के बाद इसे विमानवाहक पोत INS विक्रमादित्य, भारतीय सैन्य अकादमी, देहरादून और जोधपुर एयरबेस पर आयोजित किया गया है.



इस बार इसे गुजरात के केवड़िया कस्बे में सरदार वल्लभ भाई पटेल के स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के सामने आयोजित किया जा रहा है जिसमें कि कॉन्फ्रेंस के दौरान सेना के वरिष्ठ अधिकारी टेंट में रहेंगे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज