ताउते तूफान का कहरः गुजरात के वलसाड तट के पास बहते हुए दिखे 5 शव, 3 ने पहनी हुई थीं लाइफ सेविंग जैकेट

शवों के देखे जानें के बाद नौसेना ने सर्च अभियान तेज कर दिया है,

शवों के देखे जानें के बाद नौसेना ने सर्च अभियान तेज कर दिया है,

आधिकारी जानकारी के मुताबिक ताउते तूफान के ताडंव के बीच मुंबई से 175 किलोमीटर दूर समुद्र में बार्ज पी-305 पर फंसे 273 लोगों में से शनिवार शाम तक 188 को नौसेना के बहादुर जवानों ने बचा लिया.

  • Share this:

अहमदाबाद. गुजरात के वलसाड में कथित तौर पर पांच शव बहते हुए दिखाई दिए हैं. सूत्रों के अनुसार, मृतकों में से तीन ने लाइफ सेविंग जैकेट पहने हुए हैं, जिससे अधिकारियों के अनुमान लगाया है कि ये लोग बार्ज पी-305 जहाज के चालक दल का हिस्सा हो सकते हैं. बता दें कि बार्ज पी- 305 जहाज चक्रवाती तूफान ताउते के कारण अरब सागर में लापता हो गया था. इस शवों के दिखने के बाद भारतीय नौसेना ने सर्च अभियान तेज कर दिया है और विशेष डाइविंग टीमों को तैनात किया है.

आधिकारी जानकारी के मुताबिक ताउते तूफान के ताडंव के बीच मुंबई से 175 किलोमीटर दूर समुद्र में बार्ज पी-305 पर फंसे 273 लोगों में से शनिवार शाम तक 188 को नौसेना के बहादुर जवानों ने बचा लिया. जबकि इस दौरान 66 लोगों के शव बरामद किए गए हैं. वहीं कई लोग अब भी लापता हैं, जिन्हें बचाने के लिए राहत व तलाश अभियान जारी है.

तूफान के दौरान बार्ज के डूबने से 49 लोगों की मौत

गौरतलब है कि 17 मई को अरब सागर में उठा चक्रवाती तूफान ताउते के वक्त बार्ज P305 डूब गया, जिसमें 49 लोगों की मौत हुई , हालांकि मौतों का आंकड़ा बढ़ रहा है. ताजा जानकारी के मुताबिक 51 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 180 से ज्यादा लोगों को भारी मशक्कत के बाद नेवी और कोस्ट गार्ड के जवानों ने सुरक्षित बचाया था.
बार्ज में सवार थे 261 लोग

तूफान के दौरान समंदर के बीच फंसे बार्ज P-305 में हादसे के वक्त कुल 261 लोग सवार थे. नौसेना के सर्च एंड रेस्क्यू ऑपरेशन में 186 लोगों को बचाया जा सका है, जबकि 61 लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं. अब भी जो लोग लापता हैं, उनके लिए भारतीय नौसेना और कोस्टगार्ड लगातार जुटे हुए हैं.




टाउते तूफान गुजरने के बाद भी मौसम पर इसका असर दिखाई दे रहा है. हालांकि भारतीय नौसेना और कोस्टगार्ड विपरीत परिस्थितियों में भी धैर्य बनाए हुए हैं और रेस्क्यू अभियान को नहीं रोका. रात में भी सेना सर्चलाइट के जरिये समुद्री लहरों पर नजर बनाए हुए है, ताकि किसी भी शख्स को ढूंढा जा सके.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज