Home /News /nation /

अलविदा 2018: देश के बड़े नेताओं के 5 विवादित बयान जो मीडिया में छाए रहे

अलविदा 2018: देश के बड़े नेताओं के 5 विवादित बयान जो मीडिया में छाए रहे

पांच ऐसे विवादित बयान इस रिपोर्ट में हैं जिनसे देश की राजनीति कलंकित हुई

पांच ऐसे विवादित बयान इस रिपोर्ट में हैं जिनसे देश की राजनीति कलंकित हुई

पांच ऐसे विवादित बयान इस रिपोर्ट में हैं जिनसे देश की राजनीति कलंकित हुई

    साल 2018 राजनीतिक बयानबाजी में गिरते स्तर का गवाह रहा. इस साल देश के प्रधानमंत्री से लेकर सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी के मुखिया तक ने विवादित बयान दिए. ऐसे ही पांच ऐसे विवादित बयान जिस पर देश में काफी बहस हुई.

    #1. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी


    इस लिस्ट में पहला बयान देश के प्रधानमंत्री का है. मोदी ने विरोधी दल कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष और वरिष्ठ नेता के लिए सार्वजनिक मंच से 'विधवा' शब्द का इस्तेमाल किया. 4 दिसंबर को मोदी ने कहा था, ये कांग्रेस की कौन सी विधवा थी, जिसके खाते में रुपया जाता है.

    #2. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

    कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी


    राजनीतिक बयानबाजी के दौर में राहुल गांधी भी पीछे नहीं रहे. चाहे वह प्रधानमंत्री का ही पद क्यों न हो. कांग्रेस अध्यक्ष ने राफेल सौदे पर बीजेपी को घेरते हुए न सिर्फ एक बार बल्कि कई बार 'चौकीदार चोर है' का नारा लगाया. उनका निशाना भले ही किसी व्यक्ति पर था लेकिन पीएम पर दिए गए इस बयान पर मीडिया और लोगों में काफी चर्चा हुई.

    मोदी सरकार ने बदला भारत की इन तीन बेहद खूबसूरत जगहों का नाम, तस्वीरें देखते ही करेगा छुट्टियां मनाने का मन!

    #3. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

    योगी आदित्यनाथ


    राजनीति की बात हो और धर्म बीच में न आए. ऐसा कैसे हो सकता है. इस राजनीतिक बयानबाजी में बजरंगबली का नाम भी जमकर उछाला गया. कई जगह तो इसे सांप्रदायिक रंग देने की भी कोशिश की गई. मध्य प्रदेश में चुनावी सभाओं के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने जमकर हनुमान जी का इस्तेमाल किया. भोपाल में एक सभा को संबोधित करते हुए योगी जी बोल बैठे, 'कमलनाथ जी आप को ये अली मुबारक, हमारे लिए बजरंग बली ही पर्याप्त होंगे.'

    #4. कांग्रेस नेता राज बब्बर 

    उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर


    जब सभी कद्दावर नेता विवादित बयान दे रहे थे तो राज बब्बर इसमें पीछे कैसे रहते. उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर ने तो प्रधानमंत्री की मां को ही इस राजनीतिक बयानबाजी के बीच खींच लिया. राज बब्बर ने 22 नवंबर को मध्य प्रदेश के इंदौर में रुपए की गिरती कीमत की तुलना प्रधानमंत्री मोदी की मां की उम्र से कर दी थी. उन्होंने कहा था, 'वह रुपए की गिरती कीमत की तुलना पूर्व प्रधानमंत्री (मनमोहन सिंह) की उम्र से करते थे. आज रुपए की वैल्यू इतनी गिर गई है कि उनकी (नरेंद्र मोदी) प्यारी मां की उम्र के आसपास है.'

    #5. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

    अमित शाह


    साल 2018 में राजनेताओं ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ भी बयानबाजी की.सुप्रीम कोर्ट द्वारा सबरीमाला मंदिर में 10 से 50 साल की महिलाओं के प्रवेश पर लगी रोक को लेकर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, 'मैं राज्य सरकार और वो जिन्होंने कोर्ट में फैसला सुनाया उन्हें कहना चाहूंगा कि आपको ऐसे आदेश देने चाहिए जिन्हें लागू किया जा सके. न कि ऐसे फैसले जो लोगों की आस्था पर चोट पहुंचाए.'

    मिशन 2019: यूपी फतेह के लिए राहुल गांधी ऐसे बिछा रहे बिसात

     

    Tags: Amit shah, BJP, Congress, Narendra modi, Rahul gandhi, Raj babbar, Yogi adityanath

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर