असम में बाढ़ की स्थिति गंभीर, मुंबई में भारी बारिश का अनुमान; दिल्ली में एक हफ्ते तक बारिश नहीं

मौसम विभाग ने कहा कि मानसून पश्चिम तट में कोंकण गोवा से केरल की ओर सक्रिय है.
मौसम विभाग ने कहा कि मानसून पश्चिम तट में कोंकण गोवा से केरल की ओर सक्रिय है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में अगले कुछ दिनों तक उमस बने रहने की संभावना है, क्योंकि अच्छी बारिश की उम्मीद बहुत कम है.

  • Share this:
नई दिल्ली. असम (Assam) में सोमवार को बाढ़ की स्थिति और खराब होने के साथ राज्य में वर्षा जनित घटनाओं में छह लोगों की मौत हो गई है. बाढ़ से असम के करीब 22 लाख लोग प्रभावित हुए हैं हालांकि मौसम विभाग (Weather Department) ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि मानसून (Monsoon) दक्षिण की ओर बढ़ रहा है और पूर्वोत्तर क्षेत्र में बारिश की तीव्रता में कमी आएगी. मौसम विभाग ने कहा कि मानसून पश्चिम तट में कोंकण गोवा (Goa) से केरल (Kerala) की ओर सक्रिय है. मौसम का पूर्वानुमान बताने वाली निजी एजेंसी स्काईमेट वेदर (Skymate Weather) ने कहा कि 16 जुलाई तक मुंबई (Mumbai) में भारी बारिश होने का अनुमान है हालांकि 15 जुलाई को महानगर में सबसे तेज बारिश हो सकती है.

दिल्ली (Delhi) में नमी का स्तर 87 प्रतिशत तक पहुंच जाने के कारण उमस की स्थिति बनी हुई है. अधिकतम तापमान 38.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. पूर्व में मानसून बिहार में जमुई , झारखंड में दुमका और बंगाल की खाड़ी की ओर बढ़ा है. इससे उत्तर बंगाल (North Bengal) के लोगों को कुछ राहत मिलेगी जहां पिछले कुछ दिनों से मूसलाधार बारिश हुई है. पंजाब (Punjab) और हरियाणा (Haryana) में अधिकतम तापमान सोमवार को सामान्य के करीब रहा. दोनों राज्यों में मौसम शुष्क बना रहा. हालांकि अगले कुछ दिनों में दोनों राज्यों में कुछ स्थानों पर बारिश हो सकती है.

ये भी पढ़ें- कोरोना काल में दोगुने हो गए हैं मानसिक रोगी, ये है इसकी सबसे बड़ी वजह



चंडीगढ़ (Chandigarh) में अधिकतम तापमान 34.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. हरियाणा के अंबाला (Ambala) में तापमान 34.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. दिल्ली में सोमवार को उमस भरा मौसम रहा और अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस ज्यादा दर्ज किया गया.
दिल्ली में कुछ दिनों में अच्छी बारिश की उम्मीद कम
भारत मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी में अगले कुछ दिनों तक उमस बने रहने की संभावना है, क्योंकि अच्छी बारिश की उम्मीद बहुत कम है. सफदरजंग वेधशाला में अधिकतम तापमान 38.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जो सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस अधिक था. वहीं आर्द्रता का स्तर 87 प्रतिशत दर्ज किया गया. विभाग ने बताया कि शेष इलाकों में पारा 36 से 38 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा. उसने बताया कि अगले तीन-चार दिन तक अधिकतम तापमान 35-39 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है, क्योंकि इस दौरान सिर्फ हल्की बारिश की संभावना है.

ये भी पढ़ें- कोरोना काल में दोगुने हो गए हैं मानसिक रोगी, ये है इसकी सबसे बड़ी वजह

दिल्ली में समय से पहले मानसून पहुंचने के बावजूद बारिश कम हुई है. शहर में 43 फीसदी कम बारिश रिकॉर्ड की गई है. विभाग ने कहा कि अगले सात दिन में बारिश की संभावना बहुत कम है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज