अपना शहर चुनें

States

वैक्सीन चोरी के आरोप में गिरफ्तार हुआ 'पैरामैडिक ऑफ द ईयर', जानें क्या है पूरा मामला

जांच के दौरान पाया गया कि 
जोशुआ कोलन की तरफ से दाखिल किए गए दस्तावेजों में गड़बड़ियां थीं. (फोटो: AP)
जांच के दौरान पाया गया कि जोशुआ कोलन की तरफ से दाखिल किए गए दस्तावेजों में गड़बड़ियां थीं. (फोटो: AP)

Vaccine Theft: अथॉरिटीज के मुताबिक, जोशुआ कोलन (Joshua Colon) ने जांचकर्ताओं को बताया कि अग्निशमन विभाग के कैप्टन ने उन्हें वैक्सीन लेने के लिए कहा था. शैरिफ ने बताया कि कैलिफॉर्निया में काम पर गए कैप्टन को भी लौटने पर अरेस्ट किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2021, 1:32 PM IST
  • Share this:
फ्लोरिडा. अमेरिका के फ्लोरिडा (Florida) से वैक्सीन चोरी किए जाने का मामला सामने आया है. यहां एक कर्मी ने अपने सुपरवाइजर के कहने पर वैक्सीन के कुछ डोज चुराए हैं. खास बात है कि इस कर्मी को हाल ही में 'पैरामैडिक ऑफ द ईयर' (Paramedic of the Year) के खिताब से भी नवाजा गया था. फिलहाल आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. वहीं, कैलिफॉर्निया में ड्यूटी कर रहे उसके साथी को भी जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा.

31 साल को जोशुआ कोलन ने हाल ही में अपने काम के चलते खिताब जीता था. मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पोल्क काउंटी शैरिफ ग्रैडी जूडी ने बताया कि कोलन ने फर्जी वैक्सीन स्क्रीनिंग और जाली सहमति पत्र के जरिए मॉडर्ना वैक्सीन (Moderna Vaccine) के 3 वायल की चोरी को छिपाने की कोशिश की थी. खास बात है कि हर एक वायल में 10 डोज थे. कोलन को सोमवार को गिरफ्तार किया गया था.

यह भी पढ़ें: वैक्सीन राष्ट्रवाद पर दक्षिण अफ्रीकी राष्ट्रपति रामाफोसा ने दुनिया को दे दी बड़ी नसीहत



क्या था मामला
अथॉरिटीज के मुताबिक, कोलन ने जांचकर्ताओं को बताया कि अग्निशमन विभाग के कैप्टन ने उन्हें वैक्सीन लेने के लिए कहा था. शैरिफ ने बताया कि कैलिफॉर्निया में काम पर गए कैप्टन को भी लौटने पर अरेस्ट किया जाएगा. उन्होंने बताया कि पोल्क काउंटी फायर रेस्क्यू वैक्सीन डिलीवरी का काम कर रहा है. वहीं, कोलन शॉट्स की देखरेख कर रहा था. 6 जनवरी को कोलन को 3 वायल मिले, जिन्हें डेवनपोर्ट फायर स्टेशन में लोगों को दिए जाने का आदेश था.

अपनी शिफ्ट के बाद कोलन ने लिखा कि उन्होंने 28 वैक्सीन लगाई हैं. साथ ही लिखा कि इनमें से दो सही नहीं थीं. बाद में कोलन ने यह जानकारी वापस ली और कहा कि 3 वैक्सीन खराब हो गईं थीं. जांच के दौरान पाया गया कि कोलन की तरफ से दाखिल किए गए दस्तावेजों में गड़बड़ियां थीं. जांचकर्ताओं ने बताया कि दस्तावेजों में तीन झूठे फॉर्म भी शामिल थे.

इन फॉर्म्स में एक पूर्व फायरफाइटर का नाम था. जबकि, दो नाम फर्जी थे. जांच के दौरान दो फायर फाइटर्स से बात की गई, तो पता चला कि उन्हें अब तक वैक्सीन नहीं दी गई है. शैरिफ ने बताया कि कोलन ने कागजातों में गड़बड़ी की बात मान ली है औऱ कहा है कि कैप्टन ने अपनी मां के लिए डोज बचाने के लिए कहा था. कोलन ने जांचकर्ताओं से कहा है कि पहले उसने मना किया था, लेकिन कैप्टन ने उसपर वैक्सीन चुराने और बेचने के आरोप लगाने की धमकी दी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज