असम में बोले PM-दशकों तक कांग्रेस ने नॉर्थ-ईस्ट की अनदेखी की, 2016 के बाद NDA सरकार ने दिया ध्यान

पीएम मोदी ने असम में करीमगंज में चुनावी रैली को संबोधित किया. (फाइल फोटो)

पीएम मोदी ने असम में करीमगंज में चुनावी रैली को संबोधित किया. (फाइल फोटो)

पीएम मोदी (Narendra Modi) ने एक चुनावी रैली (Karimganj Election Rally) को संबोधित करते हुए कहा कि 2016 में राज्य में एनडीए सरकार आने के बाद असम के पुराने गौरव को फिर लौटाने के काम किया जा रहा है. पारंपरिक ट्रेड रूट को फिर से मजबूत करने का प्रयास किया जा रहा है. सिर्फ व्यावसायिक कनेक्टिविटी ही नहीं बल्कि संस्कृति और सौहार्द्र की कनेक्टिविटी को भी बीते पांच साल में मजबूत करने का प्रयास किया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2021, 6:31 PM IST
  • Share this:

गुवाहाटी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने असम (Assam) में कहा कि कांग्रेस ने दशकों तक नॉर्थ ईस्ट (North-East) की अनदेखी की है. उन्होंने कहा कि 2016 में राज्य में एनडीए सरकार (NDA Government) आने के बाद असम के पुराने गौरव को फिर लौटाने के काम किया जा रहा है. पारंपरिक ट्रेड रूट को फिर से मजबूत करने का प्रयास किया जा रहा है. सिर्फ व्यावसायिक कनेक्टिविटी ही नहीं बल्कि संस्कृति और सौहार्द्र की कनेक्टिविटी को भी बीते पांच साल में मजबूत करने का प्रयास किया गया.

राज्य की करीमगंज सीट पर भाषण के दौरान पीएम मोदी ने जनता को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने असम को हर प्रकार से डिवाइड रखा. वहीं भाजपा ने हर प्रकार से यूनाइट रखने का प्रयास किया है. कांग्रेस सरकारों और उनकी नीतियों ने असम को सामाजिक, सांस्कृतिक, भौगोलिक और राजनीतिक हर तरह से नुकसान पहुंचाया.

'जिस पार्टी की सोच ही स्थिर नहीं वो असम को स्थिर सरकार कैसे दे सकती है?'

उन्होंने कहा कि जिस पार्टी की सोच ही स्थिर नहीं हो वो राज्य को स्थिर सरकार कैसे दे पाएगी. दशकों से नॉर्थ ईस्ट को जिस तरह से विकास के मामले में नजरअंदाज किया गया, भाजपा सरकारें उसे मिलकर सुधार रही हैं. हम नॉर्थ-ईस्ट को देश के विकास का प्रमुख केंद्र बना रहे हैं और इसमें असम की बहुत बड़ी भूमिका है.
2016 में ऐतिहासिक जीत दर्ज कर बीजेपी ने बनाई थी सरकार, अब फिर पूर्ण बहुमत का दावा

गौरतलब है कि 2016 में पहली बीजेपी ने असम में ऐतिहासिक जीत हासिल की थी. अब पार्टी एक बार फिर पूर्ण बहुमत की सरकार का दावा कर रही है. वहीं काग्रेस की तरफ से लगातार सीएए कानून के मुद्दे पर प्रचार किया जा रहा है. कांग्रेस का कहना है कि वो इस बार राज्य की सत्ता में वापसी करने जा रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज