• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • LAC से सेनाएं पूरी तरह पीछे हटाने के लिए चीन से जल्द सैन्य वार्ता चाहता है भारत

LAC से सेनाएं पूरी तरह पीछे हटाने के लिए चीन से जल्द सैन्य वार्ता चाहता है भारत

भारतीय सेना और चीन की पिपुल्स लिबरेशन आर्मी फिंगर-4 पर एक दूसरे के सामने तैनात हैं. (फाइल फोटो)

भारतीय सेना और चीन की पिपुल्स लिबरेशन आर्मी फिंगर-4 पर एक दूसरे के सामने तैनात हैं. (फाइल फोटो)

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव (Anurag Srivastava) ने कहा है कि आखिरी बैठक में दोनों ही पक्ष अगली वार्ता के लिए जल्द मिलने को लेकर सहमत थे जिससे LAC से सेनाएं पूरी तरह हटाने (total disengagement) के प्रयास शुरू हों.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर तनाव कम करने के लिए चीन से जल्द बातचीत (Early Talk) की इच्छा जताई है. हालांकि दोनों देशों के बीच सैन्य और राजनयिक स्तर की 8 दौर की वार्ता किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची है फिर भी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव (Anurag Srivastava) ने गुरुवार को कहा कि वार्ता के जरिए दोनों को एक-दूसरे का स्टैंड जानने में मदद मिली है. उन्होंने कहा कि सीमा विवाद (Border Dispute) के बीच भारत और चीन लगातार विभिन्न चैनलों के जरिए बातचीत कर रहे हैं. चर्चा के जरिए दोनों देशों को एक-दूसरे का स्टैंड जानने में मदद मिली है. उन्होंने बताया कि सीमा विवाद को लेकर आखिरी बातचीत 18 दिसंबर को संपन्न हुई थी.

    अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि इस बैठक में दोनों ही पक्ष अगली वार्ता के लिए जल्द मिलने को लेकर सहमत थे. आठवें दौर की वार्ता में इस बात पर भी सहमति बनी थी कि LAC पर से सेनाएं पूरी तरह हटाने के लिए सभी प्रयास किए जाएंगे. गौरतलब है कि इस वक्त LAC पर दोनों ही तरफ से भारी संख्या में सैनिक तैनात हैं.

    आर्मी चीफ का पूर्वी लद्दाख दौरा
    भारतीय आर्मी चीफ एमएम नरवणे ने बुधवार को पूर्वी लद्दाख का दौरा कर तैयारियों का जायजा लिया था. जनरल नरवणे ने फॉरवर्ड एरिया में मौजूद सैनिकों की फिटनेस को लेकर भी पूरी जानकारी हासिल की थी. नरवणे ने जिन इलाकों का दौरा किया उनमें कैलाश रेंज की रेजगांग ला और रेचिन चोटियां भी शामिल थीं. यह वही चोटियां हैं जिन पर 28-29 अगस्त को भारतीय सेनाओं ने कब्जा जमाया था. गौरतलब है कि अभी भारतीय सेना और चीन की पिपुल्स लिबरेशन आर्मी फिंगर-4 पर एक दूसरे के सामने तैनात हैं.

    भारत ने अख्तियार किया हुआ है बेहद सख्त रुख
    विवाद के बीच भारत की तरफ से यह भी साफ किया जा चुका है कि सीमा पर अशांति के साथ दोनों देशों के बीच संबंध सामान्य नहीं हो सकते हैं. जून में हुई गलवान घाटी की घटना के बाद से भारत ने अपने सैनिकों की शहादत को लेकर बेहद सख्त रुख अख्तियार किया हुआ है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज