सरकार ने विदेशी नागरिकों को दी भारत आने की छूट, पूरी करनी होगी यह शर्त

सरकार ने कहा कि विदेशी कारोबारी अपने बिजनेस वीजा को री-वैलिडेट करवाकर या फिर नए वीजा से भारत आ सकते हैं.
सरकार ने कहा कि विदेशी कारोबारी अपने बिजनेस वीजा को री-वैलिडेट करवाकर या फिर नए वीजा से भारत आ सकते हैं.

गृह मंत्रालय (Home Ministry) के आदेश में विदेशियों की चार व्यापक श्रेणियों को रखा गया है जो नॉन शिड्यूल कॉमर्शियल फ्लाइट्स या चार्टर्ड उड़ानों से ही देश में प्रवेश कर सकते हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत सरकार (Government of India) ने कुछ खास पेशों से जुड़े विदेशी नागरिकों के लिए वीजा के नियमों में छूट दी है. भारत सरकार ने यह छूट इंजीनियर, व्यवसायी और स्वास्थ सेवाओं से जुड़े लोगों को प्रदान की है. गृह मंत्रालय (Home Minsitry) ने बुधवार को एक बयान में कहा कि विदेशी कारोबारियों, इंजीनियरों और स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों को इस शर्त पर देश में प्रवेश करने की अनुमति दी गई है कि वे अपने वीजा को फिर से वैध करवा लें और चार्टर्ड उड़ानों में भारत आएं.

विदेशियों को भारत आने की इजाजत देने का गृह मंत्रालय का ये फैसला विशेष रूप से अर्थव्यवस्था को फिर से शुरू करने के सरकार के प्रयासों के संदर्भ में देखा जा रहा है. गृह मंत्रालय के आदेश में विदेशियों को चार व्यापक श्रेणियों को रखा गया है जो नॉन शिड्यूल कॉमर्शियल फ्लाइट्स या चार्टर्ड उड़ानों से ही देश में प्रवेश कर सकते हैं.





मार्च से लगी हुई है रोक
भारत सरकार ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को कम करने के लिए मार्च में सभी प्रकार की अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स पर रोक लगा दी थी. सरकार ने कहा कि विदेशी कारोबारी अपने बिजनेस वीजा को री-वैलिडेट करवाकर या फिर नए वीजा से भारत आ सकते हैं.

चिकित्सक और इंजीनियर भी आ सकेंगे भारत
कारोबारियों के अलावा चिकित्सा पेशेवरों को भी छूट दी गई है. ये चिकित्सा पेशेवर किसी मान्यता प्राप्त और पंजीकृत हेल्थकेयर फैसिलिटी के न्योते पर ही आ सकते हैं. इसके अलावा विदेश में बनी मशीनों को इंस्टॉल करने, ठीक करने और उनकी मेंटेनेंस के लिए तकनीक विशेषज्ञ और इंजीनियर भी भारत आ सकते हैं. इस खास समूहों के विदेशी नागरिकों को जरूरत के आधार पर विदेशों में स्थित भारतीय मिशनों या पोस्ट में फिर से बिजनेस वीजा, एम्पलॉयमेंट वीजा के लिए आवेदन करना होगा.

पहले से जारी वीजा के आधार पर नहीं मिलेगी एंट्री
जिन विदेशी नागरिकों के पास भारत आने के लिए लॉन्ग टर्म मल्टीपल एंट्री बिजनेस वीजा (स्पोर्ट्स के लिए B-3 वीजा के अलावा) है उन्हें विदेशों में स्थित भारतीय मिशनों या पोस्ट्स से बिजनेस वीजा रीवैलिडेट कराना होगा. ऐसे विदेशी नागरिकों को पहले प्राप्त किसी भी इलेक्ट्रॉनिक वीजा (E-Visa) के आधार पर भारत की यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी.

ये भी पढ़ें :-

अब राहुल गांधी उद्योगपति राजीव बजाज के साथ करेंगे कोविड-19 पर बातचीत

कोरोनाकाल में Infosys के 74 कर्मचारी बन गए करोड़पति, चेयरमैन ने नहीं ली सैलरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज