सालगिरह मनाने कश्मीर आया था विदेशी जोड़ा, निराश होकर वापस लौटा

नील स्टॉर्म ने कहा कि हालात में सुधार होते ही वह कश्मीर लौटेंगे. उन्होंने कहा, ‘हम फिर किसी समय यहां आना चाहेंगे क्योंकि हमारे मेजबान बहुत भले और अच्छे लोग हैं.

भाषा
Updated: August 10, 2019, 6:01 AM IST
सालगिरह मनाने कश्मीर आया था विदेशी जोड़ा, निराश होकर वापस लौटा
कश्मीर में सालगिरह मनाने बगैर विदेशी जोड़ा हालात देखकर वापस लौट गया
भाषा
Updated: August 10, 2019, 6:01 AM IST
कश्मीर घाटी में शादी की 38वीं सालगिरह मनाने की योजना बना रहे दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के दंपति को कश्मीर (Kashmir) के सुरक्षा हालात के चलते निराशा हाथ. वह अपनी शादी की सालगिरह मनाए बगैर वापस अपने वतन लौट गए. उन्हें उम्मीद है कि हालात में सुधार के बाद वे फिर कश्मीर का रुख करेंगे.

नील स्टॉर्म और उनकी पत्नी मेरिल ताजमहल के दीदार के अगले दिन अपनी शादी की सालगिरह मनाने 2 अगस्त को कश्मीर आए थे. उनकी योजना पूरा सप्ताह यहीं बिताने की थी. लेकिन घाटी में हालात को देखते हुए उन्हें वापस लौटना पड़ा. स्टॉर्म ने बताया, ‘हम यहां से निराश होकर लौट रहे हैं. हमारी पहाड़ों पर ट्रेकिंग की योजना थी, लेकिन यह योजना अंजाम तक नहीं पहुंच पाई क्योंकि सुरक्षा बलों ने सब कुछ बंद कर दिया है’

फिर वापस लौटेंगे कश्मीर
हालांकि, उन्होंने कहा कि हालात में सुधार होते ही वे घाटी लौटेंगे. स्टॉर्म ने कहा, ‘हम फिर किसी समय यहां आना चाहेंगे क्योंकि हमारे मेजबान बहुत भले और अच्छे लोग हैं. हमें यह जगह पसंद है और हम बेहतर हालात की जानकारी हासिल करने के लिये मेजबानों से संपर्क रखेंगे. ताकि हम बिना किसी रोक टोक या बहुत ज्यादा पैसा खर्च किये अपनी यात्रा की योजना बना सकें.’

foreign couple
कश्मीर में सालगिरह मनाने बगैर विदेशी जोड़ा वापस लौटा गया


उन्होंने कहा, ‘यहां की झीलें और हाउस बोट बेहद सुंदर हैं. हमने बीते 20 सालों में कई देशों की यात्रा की लेकिन ऐसी चीज जिंदगी में कभी नहीं देखी. हाउसबोट तो वाकई लाजवाब थीं.’ स्टॉर्म ने कहा कि वह पाबंदियों के कारण शहर की झीलों और मुगल गार्डन को छोड़कर कोई और पर्यटन स्थल नहीं देख पाये.

‘लोगों पर अंकुश लगाना अच्छा नहीं’
Loading...

स्टॉर्म कहा कि मैंने भी अपने देश की सेना में सेवाएं दी हैं और मैं जानता हूं कि सुरक्षा बल क्या कर रहे हैं. वे सिर्फ सरकार के आदेशों का पालन कर रहे हैं. मेरा अनुभव कहता है कि लोगों पर अंकुश लगाना अच्छा विचार नहीं है.

ट्रंप को ‘विश्वासघाती’ बताने वाले इस शख्स को बनाया गया US का राजदूत
First published: August 10, 2019, 4:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...