विदेश मंत्री की इमरान को नसीहत, कहा-पाकिस्तान से नहीं 'टेररिस्तान' से बात करने में है दिक्कत

विदेश मंत्री की इमरान को नसीहत, कहा-पाकिस्तान से नहीं 'टेररिस्तान' से बात करने में है दिक्कत
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा है कि पाकिस्तान आतंकवाद का खुलेआम इस्तेमाल कर रहा है

भारत (India) के विदेश मंत्री एस जयशंकर (S. Jaishankar) ने कहा, जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से आर्टिकल 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान (Pakistan) ने भारत के साथ राजनयिक संबंधों को कम कर दिया था और भारतीय उच्चायुक्त को भी निष्कासित कर दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 25, 2019, 12:41 PM IST
  • Share this:
न्यूयॉर्क. भारत ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Prime Minister Imran Khan) को एक बार फिर अपनी सरजमीं से आतंकवाद खत्म करने की हिदायत दी है. भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर (External Affairs Minister, S. Jaishankar) ने कहा है कि भारत को पाकिस्तान से नहीं, 'टेररिस्तान' से बात करने में दिक्कत है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे से निपटने के लिए एक पूरे के पूरे आतंकी उद्योग का निर्माण किया है.

जयशंकर न्यूयॉर्क में सांस्कृतिक संगठन 'एशिया सोसाइटी' की ओर से मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे. विदेश मंत्री ने कहा, ''जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान ने भारत के साथ राजनयिक संबंधों को कम कर दिया था और भारतीय उच्चायुक्त को भी निष्कासित कर दिया था.ट

चीन ने कश्मीर की बदली स्थिति को एक गंभीर चिंता का विषय बताया और कहा, ''संबंधित पक्षों को संयम बरतना चाहिए और सावधानी से काम करना चाहिए. खासकर ऐसी कार्रवाईयों से बचना चाहिए जो एकतरफा यथास्थिति को बदलता हो और तनाव को बढ़ाता हो." जयशंकर ने जोर देकर कहा कि भारत को पाकिस्तान से बातचीत करने में कोई समस्या नहीं है. उन्होंने कहा, ''लेकिन हमें टेररिस्तान से बात करने में समस्या है और उन्हें सिर्फ पाकिस्तान बने रहना होगा, दूसरा नहीं.''



India, Pakistan, Imran Khan, Terrorism, External Affairs Minister, S. Jaishankar, Kashmir, Terrorism
पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने पाकिस्तान के आतंक फैलाने की बात को स्वीकार कर लिया है (स्क्रीनग्रैब)

भारत ने अपनी सीमा में रहकर किया सुधार
जयशंकर ने कहा कि अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को हटाए जाने का भारत की बाह्य सीमाओं पर कोई असर नहीं पड़ा है. जयशंकर ने कहा, ''हमने इसमें अपनी मौजूदा सीमाओं में रहकर सुधार किया है. जाहिर तौर पर पाकिस्तान और चीन से प्रतिक्रियाएं आईं. दोनों की प्रतिक्रियाएं अलग-अलग थीं. मुझे लगता है कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है जिसने कश्मीर मुद्दे से निपटने के लिए वास्तव में समूचे आतंकवाद के उद्योग को रचा. मेरी राय में यह वाकई में कश्मीर से बहुत बड़ा मुद्दा है और मुझे लगता है कि उन्होंने इसे भारत के लिए तैयार किया है.''

India, Pakistan, Imran Khan, Terrorism, External Affairs Minister, S. Jaishankar, Kashmir, Terrorism
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात करते अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप.


पाकिस्तान ने खड़ा किया आतंकवाद का बिजनेस
उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के भारत के फैसले के बाद पाकिस्तान को अब लगता है कि अगर यह नीति सफल हो जाती है तो 70 साल का उसका निवेश घाटे में पड़ जाएगा. उन्होंने कहा, ''आज उनकी प्रतिक्रिया कई रूपों में गुस्से, निराशा के रूप में सामने आ रही है क्योंकि आपने लंबे समय से एक पूरा का पूरा आतंकवाद का उद्योग खड़ा किया है.''

JAISHANKARR
विदेश मंत्री एस. जयशंकर (बायें), एनएसए अजित डोभाल (बीच में) और पीएम नरेंद्र मोदी


आतंकवाद का इस्तेमाल कर नीतियां नहीं बना सकते
जयशंकर से जब यह पूछा गया कि पाकिस्तान ने इस पर काफी कुछ कहा है और उन्हें क्या लगता है कि पाकिस्तान क्या करेगा. इस पर उन्होंने कहा कि यह कश्मीर का मुद्दा नहीं है बल्कि उससे कहीं बड़ा मुद्दा है. पाकिस्तान को इसे स्वीकार करना होगा कि उसने, जो मॉडल अपने लिए बनाए हैं वह लंबे समय तक काम नहीं करने वाले हैं. मुझे लगता है कि आज के समय में शासन के एक वैध साधन के रूप में आप आतंकवाद का इस्तेमाल करते हुए ऐसी नीतियां नहीं बना सकते हैं.

यह भी पढ़ें-

इमरान खान ने बयां किया दर्द, बोले- आप मेरी जगह होते तो हार्ट अटैक आ जाता
बांग्लादेशी पीएम ने गांधी को किया याद, बोलीं- मेरे पिता के आदर्श थे महात्मा
कश्मीर मुद्दे पर ट्रंप ने दिया पाकिस्तान को झटका, कहा- PM मोदी सब संभाल लेंगे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading