होम /न्यूज /राष्ट्र /विदेश मंत्री एस जयशंकर ने घाना, कोमोरोस एवं निकारागुआ के नेताओं के साथ की द्विपक्षीय चर्चा

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने घाना, कोमोरोस एवं निकारागुआ के नेताओं के साथ की द्विपक्षीय चर्चा

जयशंकर ने घाना के राष्ट्रपति नाना अकुफो-एडो से मुलाकात की.

जयशंकर ने घाना के राष्ट्रपति नाना अकुफो-एडो से मुलाकात की.

जयशंकर ने घाना के राष्ट्रपति नाना अकुफो-एडो से मुलाकात की और ‘‘संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में दोनों देशों के बीच जार ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने घाना के राष्ट्रपति नाना अकुफो-एडो से मुलाकात की.
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दुनिया भर के शीर्ष नेताओं के साथ बैठकों का दौर जारी रखा.
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कोमोरोस के राष्ट्रपति अज़ाली अस्सुमानी के साथ भी बैठक की.

न्यूयॉर्क. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा के उच्च-स्तरीय सत्र के इतर दुनिया भर के शीर्ष नेताओं के साथ बैठकों का दौर जारी रखा और आतंकवाद-रोधी सहयोग से लेकर कोविड-19 तक के मुद्दों पर चर्चा की. जयशंकर ने घाना के राष्ट्रपति नाना अकुफो-एडो से मुलाकात की और ‘‘संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में दोनों देशों के बीच जारी सहयोग पर चर्चा की, विशेष रूप से आतंकवाद पर.’’ जयशंकर ने ट्वीट किया कि उन्होंने ‘‘हमारी विकास साझेदारी की उपलब्धियों की सराहना की.’’ कोमोरोस के राष्ट्रपति अज़ाली अस्सुमानी के साथ अपनी बैठक में, जयशंकर ने कोविड-19 और डेंगू से निपटने में भारत के प्रयासों की प्रशंसा करने के लिए उनका आभार जताया.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘हमारी विकास साझेदारी को आगे बढ़ाने और समुद्री सुरक्षा पर एकसाथ काम करने पर चर्चा की.’’ निकारागुआ के विदेश मंत्री डेनिस मोनकाडा के साथ अपनी बैठक के बाद, जयशंकर ने ट्वीट किया, ‘‘वैश्विक स्थिति और इसके बहुपक्षीय निहितार्थों पर चर्चा की.’’ विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने इंडोनेशिया के विदेश मंत्री रेटनो मार्सुडी से जी20 समूह के अलावा म्यांमा की स्थिति पर चर्चा की है. जयशंकर ने सोमवार को ट्वीट किया, ‘‘ मेरे दोस्त रेटनो से न्यूयॉर्क में मुलाकात कर अच्छा लगा. इंडोनेशिया की जी20 अध्यक्षता को सफल बनाने की अपनी प्रतिबद्धता पर चर्चा की. म्यांमा की स्थिति पर भी विचार साझा किए.’’ जयशंकर संयुक्त राष्ट्र महासभा के सत्र में हिस्सा लेने के लिए न्यूयॉर्क पहुंचे हैं. इस उच्च स्तरीय सत्र के इतर वह कई द्विपक्षीय एवं बहुपक्षीय बैठकें कर रहे हैं.

इंडोनेशिया अभी जी20 का अध्यक्ष है और उसके बाद भारत समूह की अध्यक्षता करेगा. भारत एक दिसंबर 2022 से 20 नवंबर 2023 तक एक वर्ष के लिए समूह की अध्यक्षता करेगा. आधिकारिक सूत्रों ने इंडोनेशिया के नेता के साथ जयशंकर की बैठक को विशेष रूप से महत्वपूर्ण बताया, जिसमें दोनों पक्षों ने जी20, उससे जुड़ी चुनौतियों और आगे की रणनीति पर विचार साझा किए. सूत्रों ने कहा कि इंडोनेशिया के बाद भारत जी20 समूह की अध्यक्षता करेगा इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि इंडोनेशिया का कार्यकाल सफल हो. बैठक में इस बात पर भी जोर दिया गया कि दुनिया का ध्यान कैसे हमारे समक्ष मौजूद चुनौतियों की ओर आकर्षित किया जाए.

Tags: S Jaishankar, UNGA

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें