लाइव टीवी

वायुसेना ने पूर्व चीफ को दिया सम्मान, राफेल के 'टेल' पर लिखा होगा 'BS'

News18Hindi
Updated: December 8, 2019, 11:42 PM IST
वायुसेना ने पूर्व चीफ को दिया सम्मान, राफेल के 'टेल' पर लिखा होगा 'BS'
पूर्व वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ सितंबर में सेवानिवृत्त हो गए थे.

36 राफेल विमान (Rafale Jet) खरीदने को लेकर काफी राजनीतिक विवाद हुआ है. यह विवाद धनोआ (BS Dhanoa) के वायुसेना प्रमुख रहने के दौरान अपने चरम पर था. वायुसेना के (Indian Air Force) एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘प्रशिक्षक राफेल विमानों को छोड़कर सभी राफेल लड़ाकू विमानों के टेल नम्बर में ‘बीएस’ होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 8, 2019, 11:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राफेल सौदे (Rafale Deal) का समर्थन करने के लिए वायुसेना के पूर्व प्रमुख एयर चीफ मार्शल (सेवानिवृत्त) बीएस धनोआ (Former Air Chief Marshal BS Dhanoa) को सम्मान देते हुए भारतीय वायु सेना ने फैसला किया है कि 30 राफेल लड़ाकू विमानों पर ‘टेल नम्बर’ में ‘बीएस’ लिखा होगा, जो धनोआ के नाम के अक्षर हैं. 6 राफेल प्रशिक्षक विमानों में ‘टेल नम्बर’ में ‘आरबी’ श्रृंखला है.  यह मौजूदा वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया (RKS Bhadauria) के नाम के अक्षर हैं. उन्होंने विमान खरीद का करार कराने में वार्ताकार के तौर पर अहम भूमिका निभाई है.

फ्रांस की कंपनी दसॉल्ट एविएशन से 59 हजार करोड़ रुपए में 36 राफेल विमान (Rafale Jet) खरीदने को लेकर काफी राजनीतिक विवाद हुआ है. यह विवाद धनोआ के वायुसेना प्रमुख रहने के दौरान अपने चरम पर था. हालांकि उन्होंने मजबूती के साथ करार का बचाव किया था. वायुसेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘प्रशिक्षक राफेल विमानों को छोड़कर सभी राफेल लड़ाकू विमानों के टेल नम्बर में ‘बीएस’ होगा. पूर्व वायुसेना प्रमुख ने हमें ये विमान दिलाने के लिए जो भूमिका निभाई है, उसके लिए उन्हें धन्यवाद कहने का यह हमारा तरीका है.’

भारत आएंगे 36 राफेल विमान 
36 राफेल विमानों में से छह विमान प्रशिक्षक हैं, जबकि 30 विमान लड़ाकू हैं. प्रशिक्षक विमान दो सीट वाले होंगे और उनमें लगभग वे सभी चीजें होंगी जो लड़ाकू विमानों में होंगी. धनोआ वायुसेना में अपनी 41 वर्षों की सेवा के बाद सितंबर में सेवानिवृत्त हो गए थे. उन्होंने कहा था कि करार में कुछ भी गलत नहीं हुआ और बल को अपनी लड़ाकू क्षमताओं को बढ़ाने के लिए विमानों की जरूरत है.

भारत को सौंपे जा चुके हैं तीन विमान
राफेल विमान आधुनिक हथियारों से लैस हैं. तीन राफेल विमान पहले भारत को सौंपे जा चुके हैं और फ्रांस में भारतीय वायुसेना के पायलटों को प्रशिक्षण देने के लिए इनका इस्तेमाल हो रहा है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आठ अक्टूबर को फ्रांस में पहला राफेल विमान प्राप्त किया था. चार राफेल विमानों की पहली खेप मई 2020 तक भारत आ जाएगी.

यह भी पढ़ें...अरुण शौरी से अस्पताल में मिलने पहुंचे PM मोदी, जानिए क्यों खास है दोनों की मुलाकात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 11:14 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर