बंगाल के पूर्व मुख्‍यमंत्री बुद्धदेव की पत्नी सहित नर्सिंग होम से छुट्टी

 पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्‍यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य को अस्‍पताल से छुट्टी मिली.

पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्‍यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य को अस्‍पताल से छुट्टी मिली.

पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य को कोलकाता के एक नर्सिंग होम से बुधवार को छुट्टी दे दी गई. वो पत्‍नी सहित इसी अस्‍पताल में भर्ती थे. कुछ दिन पहले दोनों को कोरोना संक्रमण के कारण अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था. अस्‍पताल से छुट्टी के बाद दोनों किसी अन्‍य स्‍थान पर रहेंगे, पूरी तरह स्‍वस्‍थ होने के बाद ही घर लौटेंगे.

  • Share this:

कोलकाता. पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य को कोलकाता के एक नर्सिंग होम से बुधवार को छुट्टी दे दी गई. इस नर्सिंग होम में उनका कोविड-19 के बाद हुई समस्याओं के लिए इलाज चल रहा था. डॉक्टरों ने बताया कि उनकी पत्नी मीरा भट्टाचार्य को भी छुट्टी दे दी गई है. उन्हें भी इसी नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था.

नर्सिंग होम के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री की हालत स्थिर है. डॉक्टर ने कहा, ‘‘उनकी एंटीबॉडी रिपोर्ट और अन्य मानक ठीक हैं लेकिन उन्हें घर में भी दवाएं लेते रहने की जरूरत है.’’ उन्होंने बताया कि भट्टाचार्य (77) सीओपीडी के मरीज हैं और उनके लिए अपनी सेहत का अच्छे से ध्यान रखना जरूरी है. उन्होंने कहा, ‘‘हमारे डॉक्टर परिवार के संपर्क में रहेंगे और भट्टाचार्य और उनकी पत्नी दोनों की सेहत पर ध्यान रखेंगे.’’

ये भी पढ़ें  बुद्धदेव भट्टाचार्य CPI-M की राज्य कार्यकारणी समिति से हटे

पूर्व मुख्यमंत्री और उनकी पत्नी पिछले महीने कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे. इसमें बुद्धदेव भट्टाचार्य ने अस्‍पताल की बजाए घर पर ही इलाज कराने पर जोर दिया था, लेकिन उनकी पत्‍नी को भर्ती कराना पड़ा था. कुछ दिन बाद पत्‍नी घर लौट आईं थीं, लेकिन इस बार बुद्धदेव की स्थिति खराब थी. इसलिए उन्‍हें अस्‍पताल में एडमिट करना पड़ा. वहीं पत्‍नी को भी सांस लेने में दिक्‍कत के चलते दोबारा एडमिट कराया गया था.
ये भी पढ़ें  पश्चिम बंगाल के पूर्व सीएम बुद्धदेव भट्टाचार्य की हालत बिगड़ी, अस्पताल में कराए गए भर्ती

देखभाल के लिए कोई नहीं इसलिए घर नहीं जाएंगे

भारतीय राजनीति में खास मुकाम रखने वाले मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के पोलित ब्यूरो सदस्य रहे बुद्धदेव भट्टाचार्य 2000 से 2011 तक पश्चिम बंगाल के मुख्‍यमंत्री रहे. वो जाधवपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे हैं. सूत्रों का कहना है कि पति-पत्‍नी की देखभाल करने वाला घर पर कोई नहीं है, इसलिए वो अस्‍पताल से घर न जाकर, किसी अन्‍य स्‍थान पर रहेंगे. जब तक वो पूरी तरह स्‍वस्‍थ नहीं हो जाते तब तक वो दक्षिण कोलकाता स्थित अपने निवास में नहीं लौटेंगे.




निजी डॉक्‍टर करेंगे देखभाल

अस्‍पताल का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य और उनकी पत्‍नी का फालोअप उपचार जारी रहेगा. अस्‍पताल के डॉक्‍टर उनका इलाज करते रहेंगे. कोविड के बाद होने वाली समस्‍याओं के कारण दंपती परेशान हैं, इसलिए उनकी देखभाल जारी रहेगी. समय-समय पर दोनों का चेकअप किया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज