लाइव टीवी

कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर के ठिकानों पर दूसरे दिन भी छापेमारी, 5 करोड़ रुपये बरामद

News18Hindi
Updated: October 11, 2019, 11:47 AM IST
कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर के ठिकानों पर दूसरे दिन भी छापेमारी, 5 करोड़ रुपये बरामद
कर्नाटक के पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर की फाइल फोटो.

बेंगलुरु (Bangalore) में सिद्धार्थ मेडिकल कॉलेज (Medical College) के परिसर में आयकर (Income Tax Department) अधिकारी छापेमारी (Raid) कर रहे हैं. यह मेडिकल कॉलेज जी परमेश्वर से संबंधित ट्रस्ट द्वारा चलाया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2019, 11:47 AM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. आयकर विभाग (Income Tax Department) ने कर्नाटक (Karnataka) के पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर (G. Parameshwara) और अन्य के खिलाफ मारे गए छापों (Raid) के दौरान करीब पांच करोड़ रुपये नकद बरामद किए हैं. आयकर विभाग से जुड़े अधिकारियों ने बताया कि बृहस्पतिवार से शुरू की गई छापेमारी करीब 25 स्थानों पर अभी भी जारी है.

बेंगलुरु में सिद्धार्थ मेडिकल कॉलेज के परिसर में आयकर अधिकारी छापेमारी कर रहे हैं. यह मेडिकल कॉलेज जी परमेस्वर से संबंधित ट्रस्ट द्वारा चलाया जाता है. इसके अलावा जी परमेश्वर के भाई के बेटे के घर पर भी छापा पड़ा है. इस छापेमारी के तहत, आयकर विभाग के 300 से ज्यादा अधिकारी कर्नाटक में कांग्रेस के दो प्रमुख नेताओं से जुड़े परिसरों में दाखिल हुए हैं. इन नेताओं में पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर और पूर्व सांसद आर एल जालप्पा के बेटे जे राजेंद्र शामिल हैं.



अधिकारियों ने कहा है कि ये छापेमारी नीट परीक्षाओं से जुड़े कई करोड़ रुपए के कर चोरी मामले के संबंध में की जा रही है. विभाग के सूत्रों ने बताया कि परमेश्वर से जुड़े कार्यालय, आवास एवं संस्थानों पर छापे मारने के अलावा, आयकर अधिकारियों ने उनके भाई जी शिवप्रसाद और निजी सहायक रमेश के घर की भी तलाशी ली है. परमेश्वर का परिवार सिद्धार्थ ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशन्स चलाता है वहीं राजेंद्र डोडाबल्लापुरा और कोलार में आर एल जलप्पा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी चलाते हैं.
Loading...

जी परमेश्‍वर के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी का सिद्धारमैया ने विरोध किया है. उन्‍होंने इस छापेमारी को राजनीति से प्रेरित बताया है. उनका आरोप है कि कर्नाटक के कांग्रेस नेताओं को जानबूझकर निशाना बनाया जा रहा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 11, 2019, 11:47 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...