'शीला दीक्षित की तरह आप भी याद आएंगी', कहने वाले ट्रोलर को सुषमा स्वराज ने दिया जवाब

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शीला दीक्षित के निधन पर ट्वीट किया था, "शीला दीक्षित के निधन के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ. हम राजनीति में विरोधी जरूर थे लेकिन निजी जिंदगी में बहुत अच्छे दोस्त थे. वह अच्छी इंसान थीं."

News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 10:59 PM IST
'शीला दीक्षित की तरह आप भी याद आएंगी', कहने वाले ट्रोलर को सुषमा स्वराज ने दिया जवाब
सुषमा स्वराज ने एक ट्रोलर का मुंह कर दिया बंद (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: July 21, 2019, 10:59 PM IST
सुषमा स्वराज बीजेपी की कद्दावर नेता हैं. वे भारत की विदेश मंत्री भी रह चुकी हैं. लेकिन उन्होंने एक ट्रोलर को रविवार को ऐसा जवाब दिया कि उसकी बोलती बंद हो गई. दरअसल, शनिवार को दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का निधन हो गया था. इसके बाद पूरे देश से उनके लिए संवेदनाएं व्यक्त की जा रही थीं.

ऐसे में पूर्व विदेश मंत्री और दिल्ली की मुख्यमंत्री भी रह चुकी सुषमा स्वराज ने एक ट्वीट भी किया, "शीला दीक्षित के निधन के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ. हम राजनीति में विरोधी जरूर थे लेकिन निजी जिंदगी में बहुत अच्छे दोस्त थे. वह अच्छी इंसान थीं."

ट्रोलर को दिया ऐसा जवाब कि उससे कुछ कहते न बना

सुषमा स्वराज के इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए इस ट्रोलर ने लिखा, "आपकी भी बहुत याद आएगी एक दिन शीला दीक्षित जी की तरह अम्मा."



इस पर सुषमा स्वराज ने जवाब में लिखा, "इस भावना के लिए आपको मेरा अग्रिम धन्यवाद." जिसके बाद ट्रोलर से कोई जवाब न देते बना. सुषमा स्वराज इससे पहले भी कई बार ट्रोलर्स को करारा जवाब देकर भी चुप करा चुकी हैं. अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने कई बार लोगों की मदद ट्विटर के जरिए की थी. उनकी इस पहल की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ भी होती रहती थी.

आगे सांसद बनने के रास्ते बंद कर चुकी हैं सुषमा स्वराज
Loading...

सुषमा स्वराज ने 2019 के आम चुनावों से पहले स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए लोकसभा चुनावों में भाग लेने से इंकार कर दिया था. हाल ही में उन्होंने संसद से अपना पूर्व एमपी का कार्ड भी इश्यू करवाया था, जिसके बाद यह माना जा रहा था कि उन्हें राज्यसभा भी नहीं भेजा जाएगा.



हार्ट अटैक से 81 साल की उम्र हुआ था शीला दीक्षित का निधन
दिल्ली कांग्रेस की अध्‍यक्ष और पूर्व सीएम 81 साल की शीला दीक्षित का शनिवार को निधन हो गया. दिल्ली के एस्‍कॉर्ट अस्‍पताल में दिल का दौरा पड़ने के चलते उनकी मौत हुई है. उन्होंने दोपहर के करीब 03:55 बजे आखिरी सांस ली. वह लंबे समय से दिल की बीमारी से जूझ रही थीं.

कद्दावर नेता और दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को कांग्रेस में एक प्रभावशाली व्यक्तित्व के तौर पर देखा जाता है. लगातार तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रह चुकीं शीला से जब पूछा गया कि उनके 15 साल के कार्यकाल की सबसे बड़ी उपलब्धि क्या है? शीला दीक्षित ने जवाब दिया, पहला मेट्रो, दूसरा सीएनजी और तीसरा दिल्ली की हरियाली, स्कूलों और अस्पतालों के लिए काम करना.'

यह भी पढ़ें: विपक्षी नेताओं ने शीला दीक्षित को यूं दी श्रद्धांजलि

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 21, 2019, 10:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...