AIIMS में अरुण जेटली की हालत स्थिर, PM मोदी सहित कई बड़े नेता मिलने पहुंचे

सांस लेने में आ रही दिक्कत के चलते अरुण जेटली (Arun Jaitley) को शुक्रवार सुबह 11 बजे AIIMS में भर्ती कराया गया. पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) भी जेटली से मिलने के लिए एम्स पहुंचे थे.

News18Hindi
Updated: August 10, 2019, 1:04 PM IST
AIIMS में अरुण जेटली की हालत स्थिर, PM मोदी सहित कई बड़े नेता मिलने पहुंचे
AIIMS ने अरुण जेटली का हेल्थ बुलेटिन जारी किया, हालत स्थिर लेकिन ICU में भर्ती
News18Hindi
Updated: August 10, 2019, 1:04 PM IST
पूर्व वित्त मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता अरुण जेटली (Arun Jaitley) शुक्रवार शाम अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में भर्ती कराए गए हैं. जेटली की हालत फिलहाल स्थिर बताई जा रही है हालांकि वे अभी भी ICU में ही हैं. शनिवार सुबह उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली से मिलने के लिए पहुंचे हैं. इससे पहले शुक्रवार देर शाम पीएम नरेंद्र मोदी, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) भी जेटली से मिलने के लिए एम्स पहुंचे थे.

मिली जानकारी के अनुसार उन्हें सांस लेने में आ रही दिक्कत के चलते शुक्रवार सुबह 11 बजे AIIMS में भर्ती कराया गया था. जेटली को किडनी से संबंधित समस्याओं और कुछ संक्रमणों का इलाज चल रहा था. हालांकि उन्होंने बीमारी की विस्तृत जानकारी नहीं दी थी.



जेटली का सितंबर 2014 में बैरिएट्रिक ऑपरेशन हुआ था. लंबे समय से मधुमेह के कारण वजन बढ़ने की समस्या के निदान के लिए उन्होंने यह ऑपरेशन करवाया था. यह ऑपरेशन पहले मैक्स हॉस्पीटल में हुआ था पर बाद में कुछ दिक्कतें आने के कारण उन्हें एम्स स्थानांतरित किया गया था. कुछ साल पहले उनके दिल का भी ऑपरेशन हुआ था.
Loading...



यह भी पढ़ें:  ‘370 खत्म, राष्ट्र की अखंडता की दिशा में ऐतिहासिक फैसला’

मोदी-शाह के अलावा हेल्थ मिनिस्टर हर्षवर्धन, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और स्पीकर ओम बिरला ने भी एम्स पहुंचकर जेटली का हाल-चाल लिया.

जेटली ने मंत्री पद से किया था इनकार
बता दें मई 2019 में लोकसभा चुनाव में बीजेपी को मिली जीत के बाद  अरुण जेटली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख अपील की है कि उन्हें मंत्री बनाने पर विचार ना किया जाए. जेटली ने अपने खत में लिखा था कि पिछले 18 महीने से उनकी तबियत खराब है ऐसे में वह जिम्मेदारी को नहीं निभा पाएंगे. इसलिए उन्हें मंत्री बनाने पर कोई विचार ना करें.

इस साल जनवरी में वह सर्जरी के लिये अमेरिका गए थे. उनके बायें पैर में सॉफ्ट टिश्यू कैंसर है. यही वजह रही कि वह मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के अंतरिम बजट में पेश नहीं कर पाए. उनकी जगह रेलवे और कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने बजट पेश किया.

राज्यसभा सांसद हैं जेटली
अरुण जेटली साल 2000 से राज्यसभा के सांसद हैं. पिछले साल मार्च में उन्हें उत्तर प्रदेश से फिर से राज्यसभा का सांसद चुना गया है. अरुण जेटली का 14 मई 2018 को किडनी ट्रांसप्लांट संबंधी आपरेशन किया गया. वह करीब 100 दिन तक वित्त मंत्रालय से बाहर रहे. इस दौरान रेल, कोयला मंत्री पीयूष गोयल को वित्त मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार दिया गया. 23 अगस्त 2018 को वह वित्त मंत्री के रूप में वापस काम पर लौटे.

यह भी पढ़ें: जेटली के आरोप पर चिदंबरम का पलटवार, बोले-राहुल के साथ राफेल की भी हो जांच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 10, 2019, 8:51 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...