Home /News /nation /

कश्मीर में ईद की नमाज के दौरान फारूक अब्दुल्ला पर फेंके गए जूते

कश्मीर में ईद की नमाज के दौरान फारूक अब्दुल्ला पर फेंके गए जूते

फारूक अब्दुल्ला (File Photo)

फारूक अब्दुल्ला (File Photo)

दरगाह में कई युवाओं ने उन पर जूते फेंकने शुरू कर दिए. इससे अफरा-तफरी का माहौल बन गया जिसके चलते फारूक को मजबूरन नमाज स्थल से वापस लौटना पड़ा.

    जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री एवं नेशनल कॉन्फ्रेंस (एनसी) के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला के खिलाफ, बुधवार को ईद की नमाज के दौरान श्रीनगर की एक दरगाह में नारेबाजी की गई. यही नहीं फारूक के साथ धक्कामुक्की की गई और उन पर जूते तक फेंके गए. इमाम द्वारा हजरतबल दरगाह में ईद की नमाज शुरू कराए जाने से पहले ही अब्दुल्ला को अपने खिलाफ नारेबाजी का सामना करना पड़ा.

    दरअसल पिछले दिनों दिल्ली में पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया था. इसमें फारूक ने 'भारत माता की जय' के नारे लगाए थे. इस वजह से कश्मीर में उन्हें विरोध का सामना करना पड़ रहा है. कई युवाओं ने उन पर जूते फेंकने भी शुरू कर दिए. इससे अफरा-तफरी का माहौल बन गया जिसके चलते फारूक को मजबूरन नमाज स्थल से वापस लौटना पड़ा.

    केरल में बाढ़ ने धोया ईद का रंग

    वर्षा और बाढ़ के प्रकोप से धीरे-धीरे उबर रहे केरल में बकरीद बिल्कुल सामान्य ढंग से मनाई गई. राज्यभर में मस्जिदों में सैकड़ों श्रद्धालु कुर्बानी का त्योहार मनाने पहुंचे. बाढ़ में अपनी जान गंवाने वालों के लिए विशेष नमाज अदा की गई. राज्य में आठ अगस्त से अब तक वर्षा और बाढ़ जनित घटनाओं में 231 लोगों की मौत हुई है.

    निचले इलाकों में अब भी पानी जमा होने और बचाव एवं राहत कार्य जारी रहने के कारण कई स्थानों पर विशेष ईदगाहों में श्रद्धालुओं की संख्या कम रही.

    कई मस्जिदों में स्वयंसेवक श्रद्धालुओं से बाढ़ पीड़ितों के लिए दान एकत्र करते देखे गए. धार्मिक विद्वानों और मौलवियों ने लोगों से बाढ़ पीड़ितों के जीवन को फिर से पटरी पर लाने के लिए उदारतापूर्वक दान देने की अपील की.

    कोल्लम जिले के निवासी लतीफ ने कहा कि इस साल बकरीद बिल्कुल सामान्य रही. खाड़ी से बकरीद मनाने आए मैजा ने कहा कि उनके परिवार ने इस बार त्योहार के मौके पर नए कपड़े नहीं खरीदने या विशेष व्यंजन नहीं बनाने का फैसला किया.

    ये भी पढ़ें: ईद-उल-अजहा पर बिजनौर के इस गांव में लोगों ने नहीं पढ़ी नमाज, कुर्बानी पर रोक का आरोप

    प्रधानमंत्री ने देशवासियों को ईद-उल-अजहा की शुभकामनाएं दी

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को ईद उल अज़हा की शुभकामनाएं दी और उम्मीद जताई कि बलिदान का यह त्योहार समाज में करुणा की भावना प्रगाढ़ करेगा. मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘ईद उल जुहा की शुभकामनाएं. यह त्योहार हमारे समाज में करुणा एवं भाईचारे की भावना को प्रगाढ़ करे.’’

    राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति ने भी दी शुभकामनाएं

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद एवं उप-राष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने भी देशवासियों को ईद-उल-अजहा की शुभकामनाएं दी. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्विट करके लिखा, ईद-उल-जुहा के अवसर पर सभी देशवासियों विशेषकर हमारे मुस्लिम भाइयों और बहनों को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं. इस विशेष दिन हम त्याग और बलिदान की भावना के प्रति अपना आदर व्यक्त करते हैं. आइए अपने समावेशी समाज में एकता और भाइचारे के लिए मिलकर काम करें.”

    उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने देशवासियों शुभकामनाएं देते हुए ट्वीट किया, ‘‘ईद उल अजहा के पावन अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं देता हूं. यह त्याग और ईश्वर पर अटूट आस्था एवं विश्वास का पर्व है. आवश्यक है कि समाज ईद उल अजहा के इस अंतर्निहित संदेश को पहचाने और जिए.’’

    उन्होंने कहा कि यह त्योहार मानवजाति को अपनी रोजमर्रा की जिंदगी और कार्यशैली में सत्यवादिता और दया के मूल्यों का पालन करने के लिये प्रेरित करता है.

    (एजेंसी इनपुट के साथ)

    Tags: Eid al Adha, Farooq Abdullah, Kerala

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर