• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • पूर्व विधायक और एआईसीसी सचिव मैनुल हक ने दिया इस्‍तीफा, टीएमसी में होंगे शामिल 

पूर्व विधायक और एआईसीसी सचिव मैनुल हक ने दिया इस्‍तीफा, टीएमसी में होंगे शामिल 

पश्चिम बंगाल से कांग्रेस नेता मैनुल हक ने इस्‍तीफा दिया.  ( सांकेतिक फोटो )

पश्चिम बंगाल से कांग्रेस नेता मैनुल हक ने इस्‍तीफा दिया. ( सांकेतिक फोटो )

एआईसीसी (All India Congress Committee) के सचिव और पूर्व विधायक मैनुल हक ने मंगलवार को अपने पद और कांग्रेस (congress) की प्राथमिक सदस्‍यता से इस्‍तीफा दे दिया है. पार्टी अध्‍यक्ष को भेजे गए इस्‍तीफे में उन्‍होंने कहा है कि वो सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के शुक्रगुजार हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्‍ली. एआईसीसी (All India Congress Committee) के सचिव और पूर्व विधायक मैनुल हक ने मंगलवार को अपने पद और कांग्रेस (congress) की प्राथमिक सदस्‍यता से इस्‍तीफा दे दिया है. पार्टी अध्‍यक्ष को भेजे गए इस्‍तीफे में उन्‍होंने कहा है कि वो सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) और राहुल गांधी  (Rahul Gandhi) के शुक्रगुजार हैं कि उन्‍होंने कई पदों और फरक्‍का सीट से पांच बार विधायक के लिए नामांकित किया है. मैनुल हक ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी ने उन्‍हें कई प्रकार की जिम्‍मेदारी और विभिन्‍न पदों पर सम्‍मानित किया है, इसके लिए वो पार्टी का धन्‍यवाद देते हैं.

    अपने इस्‍तीफे में मैनुल हक ने कहा है कि उनका इस्‍तीफा स्‍वीकार कर लिया जाए. इस इस्‍तीफे की एक कॉपी उन्‍होंने पश्चिम बंगाल के कांग्रेस अध्‍यक्ष अधीर रंजन चौधरी को भी भेजी है. मूलत: मुर्शिदाबाद जिले के फरक्‍का के रहने वाले मैनुल हक ने कहा है कि वो 23 सितंबर को तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने जा रहे हैं. इसके लिए उन्‍होंने बाकायदा फरक्‍का के एक कॉलेज मेंं जनसभा की. इसमें स्‍थानीय जनता, प्रतिनिधि और विधानसभा क्षेत्र के विभिन्‍न ब्‍लॉक्‍स से आए कार्यकर्ता शामिल हुए. मैनुल हक ने कहा कि जिस पार्टी ने मुझे पांच बार विधायक बनाया, मुझे झारखंड और जम्‍मू-कश्‍मीर के लिए पार्टी पर्यवेक्षक घोषित किया, इसलिए ऐसी पार्टी को छोड़ना कठिन है.

    ये भी पढ़ें : भारत में तेजी से फैल रहा है कोरोना के डेल्टा वेरिएंट से पैदा हुआ AY.4, जानें वैज्ञानिकों ने क्या कहा

    ये भी पढ़ें : ब्रिटेन के कोविशील्ड को मान्यता नहीं देने पर भारत सख्त, जताया ऐतराज

    हक ने कहा कि मेरा तृणमूल कांग्रेस में जाना, मेरे लिए बहुत बड़ी परीक्षा है. लेकिन क्षेत्र की जनता की भलाई, क्षेत्र में शांति और विकास के लिए यह कदम उठाना पड़ रहा है. कांग्रेस ने मुझे मेरी अपेक्षाओं से कहीं अधिक मान-सम्‍मान और पद दिए थे. उन्‍होंने जनसभा में लोगों से हाथ उठाकर सहम‍ति देने को कहा कि क्‍या वो तृणमूल कांग्रेस में शामिल हों? जनता ने हाथ उठाकर सहमति दी. उन्‍होंने कहा कि मुझे आश्‍वासन दिया गया है कि यदि मैं तृणमूल कांग्रेस में शामिल होता हूं तो फरक्‍का में विकास और शांति लौट आएगी.

    मैनुल हक ने कहा कि चूंकि राज्‍य में तृणमूल कांग्रेस का शासन है, ऐसे में पार्टी मेरे क्षेत्र का विकास करा सकेगी, ऐसा मानते हुए मैंने यह फैसला किया है. अभी मैं कांग्रेस का नेता था और राज्‍य कांग्रेस में समन्‍वय नहीं दिखता है. वहीं कांग्रेस अध्‍यक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के आतंक से डर कर मैनुल हक ने पार्टी से इस्‍तीफा दिया है. कुछ और विधायक ऐसा कर रहे हैं, लेकिन यह परंपरा ठीक नहीं है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज