चीन को LAC पर रोकना है, तो भारत को पलटवार के लिए रहना होगा हमेशा तैयार : मेनन

पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन.

पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार शिवशंकर मेनन.

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रह चुके शिवशंकर मेनन ने भारत और चीन के मसले पर अपनी राय जाहिर की है. उनके मुताबिक चीन से वास्तविक नियंत्रण रेखा पर सामना करना है तो भारत को हर वक्त जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार रहना होगा. चीन के लिए अपनी मजबूती ही सबसे बड़ा हथियार है.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारत और चीन के बीच रिश्तों को लेकर पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार और रणनीतिक मामलों के विशेषज्ञ शिवशंकर मेनन ने अहम टिप्पणी की है. उन्होंने कहा है कि भारत को वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर चीन को किसी भी तरह की गड़बड़ करने से रोकना है तो उसे चीन को जवाब देने की क्षमता बरकरार रखनी होगी. उन्होंने कहा कि चीन LAC पर जिस तरह की घुसपैठ कर रहा है , उसमें यथास्थिति बरकरार रखने के लिए भारत को अपनी क्षमता बढ़ानी होगी और चीन को जवाब देने के लिए हर वक्त तैयार रहना होगा.

खुद की मजबूती ही सबसे बड़ा हथियार

मेनन ने एक ऑनलाइन चर्चा के दौरान कहा कि चीन जो कर रहा है उस पर टिप्पणी करने और कुछ अंतरराष्ट्रीय गठबंधन करने का स्थिति पर कोई प्रभाव नहीं होगा. ऐसे में भारत को LAC पर खुद को मजबूत करके ये सुनिश्चित करना होगा कि पड़ोसी देश स्थिति को अपने पक्ष में नहीं बदल सके. उन्होंने कहा, ‘टिप्पणी करने या अंतरराष्ट्रीय गठबंधन करना या संयुक्त राष्ट्र में प्रस्ताव पारित करना, इसका जवाब नहीं है. मेरे हिसाब से इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा. अगर आप एलएसी पर उनकी हिमाकत को और यथास्थिति को बदलने से रोकना चाहते हैं तो आपको अपनी पलटवार की क्षमता बरकरार रखनी होगी, जैसा कि हमने अगस्त में कुछ हद तक पैंगांग के आसपास किया था. आपको समूची सीमा पर यह करने की जरूरत है.’

कौन हैं शिवशंकर मेनन?
शिवशंकर मेनन भारतीय राजनयिक हैं, जिन्होंने भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल में भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के रूप में कार्य किया. उन्होंने पहले विदेश मंत्रालय में विदेश सचिव के रूप में कार्य किया था. इससे पहले वे पाकिस्तान और श्रीलंका में भारतीय उच्चायुक्त और चीन और इजरायल में राजदूत भी रह चुके हैं. मेनन की एक किताब ‘इंडिया एंड एशियन जिओपॉलिटिक्स: पास्ट, प्रेजेन्ट एंड फ्यूचर’ का हाल में विमोचन हुआ. वे इडियन वीमेंस प्रेस कॉर्प्स (आईडब्ल्यूपीसी) की ओर से आयोजित एक चर्चा के दौरान सवाल के जवाब दे रहे थे, जब उन्होंने भारत-चीन संबंधों पर बात की. पूर्व विदेश सचिव मेनन ने चीन के साथ भारत के संबंधों के लिए बृहद दृष्टिकोण अपनाने का भी आह्वान किया

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज