अपना शहर चुनें

States

अहमद पटेल के निधन पर पूर्व PM मनमोहन सिंह ने पत्नी मैमूना को लिखी चिट्टी, कही ये बात

डॉ. मनमोहन सिंह (Dr. Manmohan Singh) ने अहमद पटेल के निधन पर उनकी पत्नी मेमूना पटेल के नाम लेटर लिखा है (PTI)
डॉ. मनमोहन सिंह (Dr. Manmohan Singh) ने अहमद पटेल के निधन पर उनकी पत्नी मेमूना पटेल के नाम लेटर लिखा है (PTI)

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Dr. Manmohan Singh) की ओर से लिखी गई चिट्ठी में कहा गया है,'अहमद पटेल (Ahmed Patel) के निधन के कारण कांग्रेस पार्टी और हमारे देश ने एक बहुत अच्छे नेता को खो दिया है, जो हमेशा समाज के गरीब और दलित लोगों की भलाई के लिए सोचते थे.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 25, 2020, 4:01 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस (Congress) के चाणक्य कहे जाने वाले वरिष्ठ नेता अहमद पटेल (Ahmed Patel) का बुधवार सुबह निधन हो गया. एक महीने पहले वह कोरोना वायरस पॉजिटिव पाए गए थे, जिसके बाद गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था. इस दौरान उनके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. सुबह 3:30 बजे उन्होंने अंतिम सांसें लीं. अहमद पटेल को गुजरात के भरूच स्थित उनके पैतृक गांव पीरामन में ही गुरुवार को सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा. इस बीच पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह (Dr. Manmohan Singh) ने अहमद पटेल के निधन पर उनकी पत्नी मेमूना पटेल के नाम लेटर लिखा है और अपनी संवेदनाएं जाहिर की हैं.

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की ओर से लिखी गई चिट्ठी में कहा गया है, 'अहमद पटेल के निधन के कारण कांग्रेस पार्टी और हमारे देश ने एक बहुत अच्छे नेता को खो दिया है, जो हमेशा समाज के गरीब और दलित लोगों की भलाई के लिए सोचते थे.'





Ahmed Patel: अहमद पटेल के बेटे फैजल और बेटी मुमताज के बारे में जानते हैं आप?
मनमोहन सिंह ने कहा, 'उनके ज्ञान की तुलना किसी से भी नहीं की जा सकती है. उनके निधन के कारण देश ने और कांग्रेस पार्टी ने एक अच्छे नेता को खो दिया है. मेरी पत्नी और मेरी तरफ से आपके और आपके परिवार को पूरी संवेदना है. हमारी प्रार्थना है कि ईश्वर आपको इस दुख की घड़ी में इस क्षति को सहने की शक्ति दे.'



चिट्ठी में लिखा है कि अहमद पटेल के निधन से वो काफी दुखी हैं. अहमद पटेल ने कांग्रेस के लिए काफी लंबे वक्त तक सेवा की है. लोगों के बीच में उनकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वो लोकसभा के लिए तीन बार चुने गए. इसके अलावा राज्यसभा के लिए पांच बार उनका चयन हुआ.

अहमद पटेल अपने पीछे पत्नी मेमूना पटेल, बेटा फैजल पटेल, बेटी मुमताज पटेल को छोड़ गए हैं. अहमद पटेल ने 1976 में मेमूना अहमद से शादी की थी. पटेल का परिवार राजनीति से फिलहाल दूर है.

28 साल में सांसद बन गए थे
पटेल का जन्म 21 अगस्त 1949 को गुजरात के भरूच जिले के पिरामण गांव में हुआ था. वे 3 बार लोकसभा सांसद (1977 से 1989) और 5 बार राज्यसभा सांसद (1993 से 2020) रहे. उन्होंने पहला चुनाव 1977 में भरूच लोकसभा सीट से लड़ा था और 62 हजार 879 वोटों से जीते थे. तब उनकी उम्र सिर्फ 28 साल थी. 1980 में पटेल भरूच से ही 82 हजार 844 वोटों से और 1984 में 1 लाख 23 हजार 69 वोटों से जीत दर्ज की थी.

Ahmed Patel Dies: सबसे युवा सांसद से लेकर सोनिया के भरोसेमंद सलाहकार तक- अहमद पटेल का सियासी सफर

2001 से सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार थे अहमद पटेल
अहमद पटेल 2001 से सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार थे. जनवरी 1986 में वे गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष बने थे. 1977 से 1982 तक यूथ कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भी रहे. सितंबर 1983 से दिसंबर 1984 तक वे कांग्रेस के जॉइंट सेक्रेटरी रहे. बाद में उन्हें कांग्रेस का कोषाध्यक्ष बनाया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज