NRC: फाइनल लिस्ट में पूर्व राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद के परिवार का नाम नहीं

असम (Assam) में जारी की गई एनआरसी (National Citizenship Register) लिस्ट की फाइनल सूची से 19 लाख से ज्यादा लोग बाहर हो गए हैं. इन 19 लाख लोगों में देश के पांचवें राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद के परिवार वाले भी शामिल हैं.

News18Hindi
Updated: August 31, 2019, 10:31 PM IST
NRC: फाइनल लिस्ट में पूर्व राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद के परिवार का नाम नहीं
असम (Assam) में जारी की गई एनआरसी (National Citizenship Register) लिस्ट की फाइनल सूची से 19 लाख से ज्यादा लोग बाहर हो गए हैं. इन 19 लाख लोगों में देश के पांचवें राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद के परिवार वाले भी शामिल हैं.
News18Hindi
Updated: August 31, 2019, 10:31 PM IST
असम (Assam) में जारी की गई एनआरसी (National Citizenship Register) लिस्ट की फाइनल सूची से 19 लाख से ज्यादा लोग बाहर हो गए हैं. इन 19 लाख लोगों में देश के पांचवें राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद के परिवार वाले भी शामिल हैं.

कामरूप जिले के रंगिया में रहने वाले फ़ख़रुद्दीन अली अहमद के भाई दिवंगत भाई एकरामुद्दीन अली अहमद के बेटे ज़ियाउद्दीन के परिवार का नाम लिस्ट में नहीं है जिसके कारण वह सदमे में हैं. पिछले साल जुलाई में जारी किए गए एनआरसी ड्राफ्ट में भी उनका और उनके परिवार नाम नहीं था.

ज़ियाउद्दीन का कहना है कि मैं भारत के भूतपूर्व राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद का भतीजा हूं और मेरा नाम एनआरसी की लिस्ट में नहीं है. ज़ियाउद्दीन ने कहा कि चूंकि मेरे पिता का नाम विरासत में नहीं है इसलिए हम इसे लेकर काफी परेशान हैं.

आज जारी हुई है सूची

बता दें कि असम में बहुप्रतीक्षित राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) की अंतिम सूची शनिवार को ऑनलाइन जारी कर दी गई. इसमें करीब 19.07 लाख आवेदकों को बाहर रखा गया है.

एनआरसी के राज्य समन्वयक कार्यालय ने एक बयान में कहा कि 3,30,27,661 लोगों ने एनआरसी में शामिल होने के लिए आवेदन दिया था. इनमे से 3,11,21,004 लोगों को शामिल किया गया है और 19,06,657 लोगों को बाहर कर दिया गया है. जिन लोगों का नाम राष्ट्रीय नागरिक पंजी से बाहर रखा गया है, वे इसके खिलाफ 120 दिन के भीतर विदेशी न्यायाधिकरण में अपील दर्ज करा सकते हैं.


Loading...

असम सरकार पहले ही कह चुकी है जिन लोगों को एनआरसी सूची में शामिल नहीं किया गया उन्हें किसी भी स्थिति में हिरासत में नहीं लिया जाएगा, जब तक विदेशी न्यायाधिकरण (एफटी) उन्हें विदेशी ना घोषित कर दे.

भाजपा को लिस्ट पर नहीं है भरोसा
लिस्ट जारी होने के बाद असम में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा कि वह राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर की फाइनल लिस्ट पर भरोसा नहीं करती है. पार्टी ने केन्द्र और राज्य सरकारों से राष्ट्रीय स्तर पर एनआरसी तैयार किये जाने का अनुरोध किया.

वहीं कांग्रेस (Congress) ने कहा कि एनआरसी की मौजूदा स्थिति से राज्य का हर वर्ग नाराज है और देश के वास्तविक नागरिकों के हितों की सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए. एनआरसी की अंतिम सूची आने के बाद पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर इस मुद्दे को लेकर बैठक हुई जिसमें पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर से ताल्लुक रखने वाले वरिष्ठ नेता शामिल हुए.

(भाषा के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-
NRC: नाम न होने पर महिला ने दी जान, फिर सामने आया सच

NRC: बाहर हुए 19 लाख लोगों के पास बचे 120 दिन, करना होगा ये

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 31, 2019, 10:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...