लाइव टीवी

महाराष्ट्र के हाल पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह बोले- मौजूदा सरकार के हाथों में संवैधानिक मूल्य सुरक्षित नहीं

News18Hindi
Updated: November 26, 2019, 2:08 PM IST
महाराष्ट्र के हाल पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह बोले- मौजूदा सरकार के हाथों में संवैधानिक मूल्य सुरक्षित नहीं
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह

उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने मंगलवार को निर्देश दिया कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) बुधवार को विधानसभा में अपना बहुमत सिद्ध करें. न्यायमूर्ति एन वी रमण, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने कहा कि विधायकों की खरीद फरोख्त से बचने के लिए यह जरूरी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 26, 2019, 2:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट द्वारा देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) सरकार को महाराष्ट्र विधानसभा में बुधवार शाम तक बहुमत साबित करने का निर्देश देने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने मंगलवार को कहा कि मौजूदा सरकार में 'संवैधानिक मूल्य सुरक्षित नहीं हैं.'

मनमोहन सिंह ने संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा, 'सुप्रीम कोर्ट ने जो भी फैसला दिया है उसका सम्मान होना चाहिए.’ नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने यह भी कहा, ‘ जिस तरह से केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र में कदम उठाया है उससे साफ है कि मौजूदा शासन के हाथों में संवैधानिक मूल्य सुरक्षित नहीं हैं.’

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को निर्देश दिया कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस बुधवार को विधानसभा में अपना बहुमत सिद्ध करें. जस्टिस एनवी रमण, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस संजीव खन्ना की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने कहा कि विधायकों की खरीद फरोख्त से बचने के लिए यह जरूरी है.

'जीत हमारी होगी'

इस बीच कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन को जीत मिलेगी. दूसरी ओर संसद भवन परिसर में अंबेडकर प्रतिमा के सामने विपक्ष के सांसदों का विरोध प्रदर्शन लगातार जारी है. विपक्ष के सांसद खड़े हैं. वहां पहले सोनिया गांधी ने संविधान की कुछ पंक्तियां कहीं और उसके बाद विपक्ष के नेताओं ने ये पंक्तियां दोहराईं.

 सुप्रीम कोर्ट ने दिए हैं ये निर्देश
सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया है कि 27 नवंबर यानी कल फ्लोर टेस्ट होगा. इसके लिए सुप्रीम कोर्ट ने कई निर्देश भी जारी किए हैं. इसमें वोटिंग ओपन बैलेट के जरिए होगी. यानी मतदान गुप्त तरीके से नहीं होगा. इसके अलावा शाम पांच बजे तक सभी विधायकों को शपथ दिलानी होगी. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा है कि पूरी प्रक्रिया का लाइव टेलीकास्ट भी किया जाएगा.ये भी पढ़ें:

बैलेट पेपर से वोटिंग, फ्लोर टेस्ट का लाइव टेलीकास्ट- SC के आदेश की खास बातें

झारखंड में NDA की अंदरूनी तकरार का बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में दिखेगा असर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 26, 2019, 1:45 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर